निर्जला एकादशी व्रत

निर्जला एकादशी व्रत

साल की सभी चौबीस एकादशियों में से निर्जला एकादशी  सबसे अधिक महत्वपूर्ण एकादशी है| बिना पानी के व्रत को निर्जला व्रत कहते हैं और निर्जला एकादशी का उपवास किसी भी प्रकार के भोजन और पानी के बिना किया जाता है|

उपवास के कठोर नियमों के कारण सभी एकादशी व्रतों में निर्जला एकादशी व्रत सबसे कठिन होता है. इस साल निर्जला एकादशी 2 जून 2020 को मनाई जाएगी. निर्जला एकादशी व्रत को करते समय श्रद्धालु लोग भोजन ही नहीं बल्कि पानी भी ग्रहण नहीं करते हैं|

https://livecultureofindia.com/निर्जला-एकादशी-व्रत/

आप इन्हें भी पढ़ सकते हैं और वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें

नारियल की पूजा क्यों की जाती और पोराणिक कथा क्या है जाने,

बाबा तुंग नाथ यत्रा की विडियो देखें 

जो श्रद्धालु साल की सभी चौबीस एकादशियों का उपवास करने में सक्षम नहीं है उन्हें केवल निर्जला एकादशी उपवास करना चाहिए क्योंकि निर्जला एकादशी उपवास करने से दूसरी सभी एकादशियों का लाभ मिल जाता हैं. निर्जला एकादशी का व्रत ज्येष्ठ माह में शुक्ल पक्ष के दौरान किया जाता है।

व्रत रखने से पहले अपने शरीर का आजकल जरूर ध्यान दें

 

आचार्य पंकज पुरोहित