अच्छे स्वास्थ्य के लिए घर में अजमाएं ये 8 काम की बातें

अच्छे स्वास्थ्य के लिए

अच्छे स्वास्थ्य के लिए हर इन्सान कोशिस करता है अच्छा और फिट कौन नहीं रहना चाहता है|अच्छे स्वास्थ्य के लिए आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत काफी हद तक कम हो जाएगी अगर आप घर में ही इन चीजों का उपाय करेंगे तो छोटी मोटी बीमारियां काफी हद तक दूर कर लेती है| ये आपको घर में आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं

 https://livecultureofindia.com/अच्छे-स्वास्थ्य-के-लिए-घर/

1-कब्ज : कुछ दिनों तक नियमित संतरा खाने से शौच साफ होने लगता है एवं जठराग्नि तीव्र होती है।

2-शारीरिक दर्द या थकावट : शरीर में कहीं भी दर्द हो, थकावट हो तो *तिल के तेल में थोड़ा- सा कपूर या दो-तीन बूंद ‘अमृत द्रव’ मिलाकर मालिश करें।

3-दांतों व मसूड़ों के लिए : मसूड़ों पर फिटकरी मलने से दांत मजबूत होते हैं। मसूड़ों में जख्म हो गए हों या मुंह में छाले पड़ गए हों तो *फिटकरी के पानी से कुल्ला करें।

4-दिमागी कमजोरी : प्रतिदिन प्रातः 20 ग्राम मक्खन, 10 ग्राम मिश्री और 2 ग्राम कालीमिर्च– तीनों को घोट- मिलाकर चाटने से दिमाग की कमजोरी और खुश्की नष्ट होती है। *खुश्की के कारण होने वाला सिरदर्द भी दूर हो जाता है।

 https://livecultureofindia.com/अच्छे-स्वास्थ्य-के-लिए-घर/

5-अधिक नींद आती हो तो : 6 ग्राम सौंफ को आधा लीटर पानी में उबलने रख दें। जब पानी 250 मि.ली. रह जाए, तब उतार लें। इसमें थोड़ा-सा सेंधा नमक मिलाकर दिन में चार-पांच बार पिएँ। 5-6 दिन तक यह प्रयोग करने से अधिक नींद आने की समस्या में लाभ होता है।

6-स्वास्थ्य- लाभकारी उत्पाद :

1-वजन एवं बल बढ़ाने हेतु :प्रतिदिन एक चम्मच (5 ग्राम) अश्वगंधा पाक दूध से लें। एक चम्मच (10 ग्राम) चवनप्राश लें।

2-शारीरिक कमजोरी में 10-15 दाने किशमिश, 2-4 बार अच्छी तरह धोकर भिगो के खाएं।

3-कब्ज की समस्या में :एक से डेढ़ चम्मच (2 से 3 ग्राम) त्रिफला चूर्ण रात को सोते समय गर्म पानी से लें।
भूख की कमी : तीन चम्मच पंचरस सुबह खाली पेट अथवा शाम को भोजन से एक-दो घंटे पहले ले सकते हैं।

4-सर्दी- जुकाम के लिए : 2-3 बूंद अमृतद्रव 1 कप गुनगुने पानी से सेवन करें।

7-कफशामक गुड व चने की बर्फी

पुराने गुड़ की 3 तार की चाशनी बनाकर उसमें भुने हुए चने की दाल मिला लें और थाली में घी लगाकर फैला कर टुकड़े कर दें। तैयार है स्वादिष्ट, बलवर्धक बर्फी।

आप इन्हें भी पढ़ सकते हैं और वीडियो भी देख सकते हैं

सेब खाने के फायदे तो क्यों ना आजमाएं

कोरोना से बचाव केआसान उपाय

तुलसी के औषधीय गुण व उपयोग |

लहसुन Garlic के क्या-क्या फायदे खाने में क्यों शामिल करें

उत्तराखंड पहाड़ों में कैसे रहते हैं Documentary film

8- बच्चा भी हृष्ट-पुष्ट, मां भी हृष्ट-पुष्ट

गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर डरा देते हैं’गर्भ में बच्चा ऐसा है, वैसा है।…’ डरो नहीं। 400 ग्राम दूध में 200 ग्राम पानी और घर में जो थोड़ा- बहुत सोना चांदी है, वह अच्छे से धोकर, डालकर उबाल लो। पानी वाष्पीभूत हो जाए, दूध- दूध रह जाए तो उसमें एक चम्मच शुद्ध घी डालके गर्भिणी पीये।

गर्भिणी नारियल और मिश्री भी चबा- चबाकर खाए। बच्चा भी हृष्ट-पुष्ट, मां भी हृष्ट-पुष्ट ! और चंद्रमा की चांदनी पेट पर, नाभि पर पड़े तो बच्चे का पोषण अच्छा होता है।