क्या है आयुर्वेद में हार्ट अटैक का उपाय | remedy for heart attack in Ayurveda

आयुर्वेद में हार्ट अटैक का उपाय

ये याद रखिये की भारत मैं सबसे ज्यादा मौते कोलस्ट्रोल बढ़ने के कारण हार्ट अटैक(heart attack) से होती हैं। आजकल हार्ट अटैक (heart attack )से आचानक मौत आम बात हो गई है। आप खुद अपने ही घर मैं ऐसे बहुत से लोगो को जानते होंगे जिनका वजन व कोलस्ट्रोल बढ़ा हुआ रहता है।

https://livecultureofindia.com/आयुर्वेद-में-हार्ट-अटैक-का-उपाय/
दिल के रोगियों (heart patients) को चेकेप और ईलाज angioplasty इस ऑपरेशन मे डॉक्टर दिल की नली में एक spring डालते हैं जिसे stent कहते हैं। जिसका का इलाज और चेकप का खर्चा लाखों में आता है| जो की कुछ समय तक ही कारगर रहता है| फिर आपकी जिंदगी इसी में निकल जाती हैं।

यदि हम अपने खान-पान और रहन-सहन के तरीके को बदलते हैं तो इन हार्ट अटैक(heart attack) जेसी बीमारियों से काफी हद तक हम बच सकते हैं योगा और व्यायाम,घूमना फिरना करें तो ये इसे बहुत ही कारगर माना गया है| आयुर्वेद में इसका इलाज बताया गया है| जिसे आप प्रयोग कर सकते हैं

https://livecultureofindia.com/आयुर्वेद-में-हार्ट-अटैक-का-उपाय/

हार्ट अटैक (heart attack)  का आयुर्वेदिक इलाज

अदरक (ginger juice) – यह खून को पतला करता है।साथ ही यह दर्द को प्राकृतिक तरीके से 90% तक कम करता हें।

लहसुन (garlic juice) –इसमें मौजूद allicin तत्व cholesterol व BP को कम करता है।वह हार्ट ब्लॉकेज को खोलता है।

नींबू (lemon juice) –इसमें मौजूद antioxidants, vitamin C व potassium खून को साफ़ करते हैं। ये रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) बढ़ाते हैं।

एप्पल साइडर सिरका ( apple cider vinegar) –इसमें 90 प्रकार के तत्व हैं जो शरीर की सारी नसों को खोलते है, पेट साफ़ करते हैं व थकान को मिटाते हैं।

उपयोग करने का तरीका

1-एक कप नींबू का रस लें;
2-एक कप अदरक का रस लें;
3-एक कप लहसुन का रस लें;
4-एक कप एप्पल का सिरका लें;

चारों को मिला कर धीमीं आंच पर गरम करें जब 3 कप रह जाए तो उसे ठण्डा कर लें;अब आप उसमें 3 कप शहद मिला लें रोज इस दवा के 3 चम्मच सुबह खाली पेट लें जिससे सारी ब्लॉकेज खत्म हो जाएंगी।

जरा सोचिये की शाम के 7:25 बजे है और आप घर जा रहे है वो भी एकदम अकेले। ऐसे में अचानक से आपके सीने में तेज दर्द होता है जो आपके हाथों से होता हुआ आपके जबड़ो तक पहुँच जाता है।

आप इन्हें भी पढ़ सकते हैं और वीडियो भी देख सकते हैं

पैरों के तलवों में तेल लगाने के 18 फायदे जानिए लोगों का अनुभव

सेब खाने के फायदे तो क्यों ना आजमाएं

अच्छे स्वास्थ्य के लिए घर में अजमाएं ये 8 काम की बातें

तुलसी के औषधीय गुण व उपयोग |

लहसुन Garlic के क्या-क्या फायदे खाने में क्यों शामिल करें

उत्तराखंड पहाड़ों में कैसे रहते हैं Documentary film

आप अपने घर से सबसे नजदीक अस्पताल से 5 मील दूर है और दुर्भाग्यवश आपको ये नहीं समझ आ रहा की आप वहां तक पहुँच पाएंगे की नहीं। आप सीपीआर में प्रशिक्षित है मगर वहां भी आपको ये नहीं सिखाया गया की इसको खुद पर प्रयोग कैसे करे।

ऐसे में हार्ट अटैक(heart attack )से बचने के लिए ये उपाय

चूँकि ज्यादातर लोग दिल के दौरे (heart attack )के वक्त अकेले होते है बिना किसी की मदद के उन्हें सांस लेने में तकलीफ होती है । वे बेहोश होने लगते है और उनके पास सिर्फ 10 सेकण्ड्स होते है ।

ऐसे हालत में पीड़ित जोर जोर से खांस कर खुद को सामान्य रख सकता है। एक जोर की सांस
लेनी चाहिए हर खांसी से पहले
और खांसी इतनी तेज हो की
छाती से थूक निकले।
जब तक मदद न आये ये
प्रक्रिया दो सेकंड से दोहराई
जाए ताकि धड्कण सामान्य
हो जाए ।
जोर की साँसे फेफड़ो में
ऑक्सीजन पैदा करती है
और जोर की खांसी की वजह
से दिल सिकुड़ता है जिस से
रक्त सञ्चालन नियमित रूप से
चलता है|

Leave a Reply