Corona में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ायें आयुष मंत्रालय के दिशा-निर्देश

      कोविड-19 Corona virus

कोविड-19 Corona virus एक गंभीर सांस की बीमारी है, जो दुनिया भर में तेजी से फैल रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोविड-19 को महामारी घोषित किया है। मौजूदा समय में कोविड-19 नाम की बीमारी का कोई इलाज मौजूद नहीं है केवल बीमारी के लक्षणों को नियंत्रित करना ही एकमात्र विकल्प है|

कोविड-19 के लक्षण-

 https://livecultureofindia.com/कोविड-19-corona-virus/ ‎
कोविड-19

कोविड-19 Corona virus के लक्षण बुखार, थकान, गले में खराश और सूखी खांसी आदि है। यह बीमारी पहले आम फ्लू की तरह बहुत अधिक प्रतीत होती है। इसमें कुछ लोगों की सूंघने और स्वाद जानने की क्षमता में कमी आ जाती है| जबकि कुछ के पेट में ऐंठन भी महसूस होती है और पेट खराब भी हो सकता है। कई मामलों में आपको साँस लेने में मुश्किल होती है। कोविड-19 को आम फ्लू से अलग करना मुश्किल है|

कोविड-19 आयुष मंत्रालय (Ayush Ministry)ने जारी किए दिशा-निर्देश,

मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 Corona virus के चलते दुनियाभर में लोग इससे काफी प्रभावित हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर की प्राकृतिक रक्षा प्रणाली को मजबूत करना सबसे महत्वपूर्ण है। इसमें बताया गया है कि इलाज से बेहतर रोकथाम होती है। इसके लिए हमें अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने की जरूरत है।
दिनभर गर्म पानी पीएं, कम से कम 30 मिनट तक योग का अभ्यास, प्राणायाम और ध्यान लगाना बहुत महत्वपूर्ण है। भोजन पकाने के समय इसमें हल्दी, जीरा और धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है।
सुबह 1 चम्मच च्यवनप्राश खाएं, जो डायबिटीज के रोगी हैं, उन्हें बिना शुगर वाला च्यवनप्राश खाने की सलाह दी गई है।
दिन में 1 या 2 बार हर्बल चाय पीएं या तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी अदरक और किशमिश का काढ़ा पीने और 150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी डालकर पीने की सलाह दी है।

 https://livecultureofindia.com/कोविड-19-corona-virus/ ‎ https://livecultureofindia.com/कोविड-19-corona-virus/ ‎
सुबह और शाम अपने दोनों नथूनों में तिल या नारियल का तेल या घी लगाएं, जैसे कि आयुर्वेदिक उपाय बताए गए हैं। मंत्रालय के मुताबिक देशभर के जाने-माने डॉक्टरों ने इन उपायों के बारे में जानकारी दी है, जो व्यक्ति की इम्युनिटी को बढ़ाने में बेहद कारगर हैं।
सूखी खांसी के लिए दिन में 1 बार पुदीने की ताजा पत्ती या अजवाइन के साथ भाप लें, खांसी या गले में खराश होने पर दिन में 2-3 बार प्राकृतिक शकर या शहद के साथ लौंग का पाउडर लेने के लिए सलाह दी है।

कोविड-19 Corona virus से बचाव –

बार बार चेहरे, खासकर नाक, होंठ या पलकों को छूने से बचें।भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचें। यदि ऐसा संभव नहीं है तो लोगों से सुरक्षित दूरी बनाए रखें। और अपने को भीड़-भाड़ वाली जगहों से खुद को सुरक्षित रखें।
हाथ साफ रखना-हमारे हाथ कई सतहों को छूते हैं, फिर इन हाथों को ही हम आंख, नाक और मुंह पर लगाते हैं, जिस कारण वायरस हमारे शरीर के अंदर प्रवेश कर सकता है। इसलिए वायरस से बचने के लिए दो घंटे में कम से कम एक बार हाथों को अच्छे से धोना जरूरी है।

इन्हें भी पढ़ें और वीडियो देखें

हल्दी turmeric के इतने फायदे तो लाभ जरुर उठायें

सरसों तेल (mustard oil) के फायदा और नुकसान जाने

एलोवेरा से चेहरे की झाइयां घर बैठे हटाए वीडियो देखें

अपने नाक और मुंह को मास्क से ढक कर रखें मास्क न होतो रूमाल/चुन्नी की कम से कम 3 परत बनाते हुए उसे मस्क की तरह मुंह पर लगा कर रखें इसकी आदत डालें अपने नाक और मुंह को ढक कर रखें माफ या रुमाल जरूर लगाएं

 https://livecultureofindia.com/कोविड-19-corona-virus/ ‎
घर पर भी जहां तक संभव हो खुद को शारीरिक रूप से एक्टिव रखें नियमित रूप से एक्सरसाइज करें क्योंकि इससे शरीर की क्रिया सही ढंग से होती है छाती एक्सरसाइज करने से महामारी के द्वारा होने वाली चिंता और तनाव से निपटने में भी मदद मिलती है
बुजुर्गों  (60 साल से उपर के)और बच्चों 10 साल से कम उम्र के बच्चों को कोविड-19 का खतरा सबसे अधिक होता है| उनका खास तोर पर ध्यान रखना चाहिए,
पानी और साबुन- अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से धोएं। साबुन को अपनी उंगलियों के चारों ओर, उनके बीच और नाखूनों के नीचे, अपनी हथेलियों पर और अपने हाथों के पीछे की तरफ से लगभग 20से30 सेकंड तक रगड़ें और फिर उन्हें धो लें ।
हैंड सैनिटाइजर – अपने हाथों पर लगभग एक चम्मच हैंड सैनिटाइजर डालें और हाथों को उंगलियों, हाथों के बीच और नाखूनों के बीच, हथेलियों पर और हाथों के पीछे से लगभग 20 सेकंड तक रगड़ें। लेकिन सैनिटाइजर के उपयोग के बाद हाथों को न धोएं। https://livecultureofindia.com/कोविड-19-corona-virus/ ‎यदि किसी को कोविड-19 हो जाता है| तो वह घर पर ही आलग कमरे में रहे किसी दूसरों के संपर्क में ना आए घर से बाहर ना निकले बिल्कुल अलग ही रहे|

कोविड-19 सावधानियां

रोगी के उपयोग किए जाने वाले सभी बर्तन रसोई के डिटर्जेंट के साथ तुरंत और सावधानी से धोए जाने चाहिए। उसी समय ध्यान से हाथ भी धोएं।
कपड़ों को ध्यान से धोएं। यह भी रोगी को नहीं करना चाहिए।
दिन में दो बार फिनाइल, लाइसोल आदि जैसे कीटाणुनाशक से कमरे को पोछें।
बड़ों या छोटे बच्चों को हर कीमत पर मरीज के पास न जाने दें।
रोगी अपने बर्तन साबुन के पानी में डाल सकता है और कोई अन्य व्यक्ति इसे 15-20 मिनट के बाद धो सकता है। यही प्रक्रिया उपयोग किए गए कपड़ों के साथ ही उपयोग में लाई जा सकती है।