तांबे के बर्तन का पानी पीने के 7 फायदे | Benefits of drinking copper pot water

तांबे के बर्तन के फायदे | Benefits of copper pot

तांबे के बर्तन का पानी हो या तांबे के बर्तन चाहे खाना बनाने के लिए हो या खाना खाने से लेकर पानी पिने और पानी को रखने के लिए पहले लगभग सभी के घरों में होते थे ले किन हम आज कल के चमक धमक की दुनियां में इन तांबे के बर्तन का प्रयोग भूल चुके हैं|

https://livecultureofindia.com/तांबे-के-बर्तन-का-पानी/

तांबे के बर्तन (ताम्रपात्र) में पीने के लिए रखा गया पानी आयुर्वेद के अनुसार वात, कफ और पित्त के दोषो को इस पानी को पीने ये तीनों दोष संतुलितरहते हैं।

लेकिन तांबे के बर्तन में ये पानी कम से कम 8 घंटे तक रखा होना चाहिए ,जिस से ज्यादा से ज्यादा फायदा मिल ता है| आप इसे पुरे दिन नही पी सकते हैं तो दिन में दो बार जरुर पियें,बाकि आप सादा पानी पी सकते हैं,

तांबे के बर्तन का पानी पीने के 7 फायदे

तांबे के बर्तन का पानी पीने के वेसे तो अनगिनत फायदे होते हैं लेकिन उन में से कुछ फायदे हम आप को बताने जा रहे हैं|

1-तांबे के बर्तन का पानी वजन घटाने में करे मदद

वजन कम करने के लिए असरदार माने जाने वाले फाइबरयुक्त चीज़ें खाने के बावजूद भी अगर आपका वजन कम नहीं होता तो नियमित रूप से तांबे के बर्तन में रखे पानी को पियें। इस पानी से आपके शरीर की चर्बी कम होती है।

2-तांबे के बर्तन का पानी मस्तिष्क के लिए अमृत

तांबे के बर्तन का पानी पीने के फायदे एक तंत्रिका कोशिका के दूसरे तंत्रिका कोशिका तक संदेश पहुंचाने से ही हमारा दिमाग काम कर पाता है।

ये तंत्रिका कोशिकाएं मायलिन नाम के आवरण से ढंकी हुई होती हैं, जो इनकी संदेश पहुंचाने के काम में मदद करता है। तांबा इस मायलिन आवरण के तैयार होने में मदद करता है।

3-तांबे के बर्तन का पानी पीने से जोड़ों में सूजन और दर्द में दे राहत

तांबे में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हड्डियों और इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाता है, इसलिए जो हडि्डयों से जुड़ी बीमारियों जेसे आर्थराइटिस जोड़ों में सूजन से जूझ रहे मरीज़ों के लिए ये बहुत ही फ़ायदेमंद होता है,

कृपया हमारा यह ब्लॉग और वीडियो भी देखें

गठिया,साइटिका,घरेलू उपचार

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

 world oldest religious Temple 

उत्तराखण्ड के पहाड़ी गांव का रहन सहन

सिंपल वेज बिरयानी रेसिपी 

चेहरे से मुंहासे हटाए

Documentary Film Chopta Tungnath 

4-तांबे के बर्तन का पानी करे बैक्टीरिया का सफाया

तांबे में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो बहुत प्रभावी रूप से बैक्टीरिया का सफाया कर देते हैं। खासतौर पर ईकोली पर अपना असर दिखाते हैं जो हमारे पर्यावरण में पाए जाते हैं तो हमारे शरीर में प्रवेश करके उसे नुकसान पहुंचाते हैं।

तांबे वाला पानी पीलिया, हैजा आदि बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है। अगर आपको लगता है कि आपका पानी पूरी तरह से शुद्ध नहीं है तो उसे तांबे के बर्तन में रात भर रखने के बाद इस्तेमाल करें।

5-तांबे के बर्तन का पानी एजिंग की रफ्तार कम करे

अगर आ चेहरे पर आती झुर्रियों से परेशान हैं तो तांबा आपके लिए प्राकृतिक उपचार साबित हो सकता है। बहुत उच्च मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होने और कोशिका निर्माण की क्षमता की वजह से तांबा फ्री रेडिकल्स का सफाया करता है|

जो कि झुर्रियों का मुख्य कारण है। साथ ही इससे तांबे की मदद से पुरानी कोशिकाओं की जगह नई कोशिकाएं ले लेती हैं।

https://livecultureofindia.com/तांबे-के-बर्तन-का-पानी/

6-त्वचा के लिए फायदेमंद

आंखों, बालों व त्वचा के रंग को बेहतर बनाने वाला पिगमेंट मिलेनिन होता है। मिलेनिन त्वचा को सन डैमेज और निशानों से बचाता है। तांबा इसके निर्माण के लिए मुख्य घटक होता है।

इसके अलावा, तांबा त्वचा की नई कोशिकाओं के निर्माण में भी मदद करता है। आयुर्वेद के अनुसार हर रोज सुबह तांबे का पानी पीने से त्वचा में बहुत फर्क आता है।

7-तांबे के बर्तन का पानी पीने से जख्म जल्दी भरते है

तांबे में उच्च मात्रा एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी तत्व होने की वजह से इससे जख्म जल्दी भरते हैं। इसके अलावा तांबे से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है|

और नई कोशिकाएं बनने में भी मदद होती है। तांबे का पानी पीने से पेट के अंदर के जख्म भी जल्दी ठीक हो जाते हैं।

Leave a Reply