healthy digestive system | पाचन क्रिया सही रखे ये घरेलू उपाय

पाचन तंत्र (digestive system) हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण तंत्र

शरीर में रोग की मुख्य जड़ पेट (digestive system) को माना जाता है। जानकारों के अनुसार पेट से ही रोगों की शुरुआत होती है। दरअसल पाचन तंत्र हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण तंत्रहै। यह हमारे भोजन को पचाता हैं और उससे प्राप्त रस पूरे शरीर का पोषण करता है। यदि यह रस ठीक से न बने या ठीक से न पाचे तो आम अर्थात कच्चा रस बनता है जो सभी रोगों की जड है। इसलिए पाचन तंत्र का हमेशा सही रहना जरूरी होता है।

 https://livecultureofindia.com/healthy-digestive-system/

सुबह पेट अच्छे से साफ़ होना, हेल्थी healthy digestive system होने की सबसे बड़ी निशानी होती है। कब्ज़ से सिर्फ बूढ़े ही नहीं बल्कि जवान भी परेशान रहते हैं। नींद न पूरी होना, टेन्शन, नशीली दवाएं और स्मोकिंग ये कब्ज़ की वजह है।

ऐसे ठीक करें अपना पाचन तंत्र-(digestive system)

पेट में होने वाली अपच, कब्ज या बदहजमी सहित कई प्रकार की परेशानियों के वैसे तो कई कारण होते हैं। लेकिन इसके मूल में नई जीवन शैली यानि बदली हुई दिनचर्या ही है। उनके मुताबिक पेट (digestive system) संबंधी इन परेशानियों को यानि पाचन तंत्र को हम कई तरह से स्वस्थ कर सकते हैं।

1. अधिक मात्रा में पानी पीयें – हमारे लिए पानी बहुमूल्य है। अधिकतर लोग बहुत कम पानी पीते है। हमें एक दिन में लगभग 2 से 4 लीटर पानी पीना चाहिए। और गर्मियों मे 3 से 5 लीटर। जिससे भोजन को पचने में आसानी होती है। इसलिए पानी पीये और भरपूर पीये।

2. अपनी दिनचर्या सही रखे – मनुष्य के लिए एक अच्छी दिनचर्या का होना बहुत आवश्यक है। अगर आपकी दिनचर्या संतुलित नहीं हैं, तो आपको दिनभर कई छोटी–छोटी समस्याओ का सामना करना पड़ेगा। पाचनतंत्र (digestive system) को आप बेहतर दिनचर्या से दूर कर सकते हैं। सुबह से लेकर रात सोने तक अपनी दिनचर्या सही रखे, सही समय पर अपना भोजन लें। अगर आपकी रोज की दिनचर्या ठीक होगी तो आपका शरीर भी उसी अनुसार चलता रहेगा। जिससे पाचन तन्त्र (digestive system)भी दुरुस्त हो जाएगा।

3. रात को जल्दी सो जाएं- कई लोग काम के चलते और कई अपनी बुरी दिनचर्या (Dincharya) के कारण देर रात जगे रहते है। वे जल्दी सोते नहीं और सुबह लेट में उठते है। देर रात तक जगे रहने से पाचन तंत्र (digestive system) पर विपरीत असर पड़ता है। इसलिए रात को भोजन करने के बाद थोड़ा बहुत घूमकर सो जाए, वहीं अगर देर रात तक जगे रहेंगे तो आपका पाचन तंत्र भी प्रभावित होगा।

 https://livecultureofindia.com/healthy-digestive-system/

4. गहरी और अच्छी नींद लें – नींद का हमारे शरीर से गहरा असर पड़ता है। जिस तरह हमारे लिए भोजन करना जरुरी है, ठीक उसी तरह हमारे लिए नींद भी बेहद जरुरी है। बिना अच्छी नींद के अच्छे स्वास्थ्य की कल्पना करना भी मुश्किल है। अप्रयाप्त नींद से आपकी Health ख़राब हो जाएगी। जानकारों के अनुसार भी एक दिन में इसलिए 6 से 8 घंटे की अच्छी नींद जरुर लेनी चाहिए।

5. तनाव को करें दूर – आज तनाव लोगों के लिए बहुत बड़ा दुश्मन बन गया है। तनाव आदमी को अन्दर ही अन्दर दीमक की तरह खोखला कर देता है। जिससे व्यक्ति कई रोगों से घिर जाता है। अधिक तनाव लेने से पाचन तंत्र (digestive system) ख़राब हो जाता है।

6. फास्ट फ़ूड को कहे अलविदा –
स्वाद हर कोई लेना चाहता है। और इसी स्वाद के चक्कर में हम लोग फास्ट फ़ूड खाने लगते हैं। किसी को यह कम पसंद होता है तो किसी को ज्यादा, जिसको यह ज्यादा पसंद होता है उनके द्वारा इसका रोज उपयोग उनका पाचन तंत्र (digestive system) ख़राब कर देता है। ऐसे लोगों को आमवात अप IBS की प्रॉब्लम जादा होती है। वहीं जो कभी कभी इसका उपयोग करते हैं, उन्हें ऐसी परेशानी कम ही होती है।

7. जरुर करें शारारिक कार्य –

पाचन तंत्र (digestive system) अधिकतर उन्ही लोगो का ख़राब होता है, जो शारारिक काम नहीं करते हैं। ऐसे लोग अपनी दिनचर्या में कुछ शारारिक काम कर सकते है। अगर काम नहीं है तो वे सुबह उठकर टहल सकते हैं। पैदल घूम सकते हैं या दौड़ भी लगा सकते है. इसके अलावा कोई स्पोर्ट्स या साइकिलिंग करना भी उनके लिए फायदेमंद होता है।

8. सही समय पर भोजन – सही समय पर भोजन करना अच्छी सेहत की निशानी होती है। ब्रेकफास्ट से लेकर डिनर तक आपका खाना खाने का Time निश्चित होना चाहिए। हमारा शरीर हमारे डेली रूटीन के हिसाब से खुद को ढाल लेता है। अगर हम कभी 1 घंटे पहले कभी एक घंटे बाद खाना खाएं तो हमारा भोजन रोज अनियमित हो जाएगा।
जो हमारे पाचन तन्त्र (digestive system) को गड़बड़ा देता है। माना आप सुबह 8 बजे अपना Breakfast लेते हो तो रोज उसी Time पर ले। ऐसा ही Lunch और Dinner पर भी करें।

9. खाने-पीने में कमी न करें – यह बहुत लोगो की Problem होती है की जब उनको तेज भूख लगती है तब वे कुछ नहीं खाते और जब भूख न हो तब पेट में कुछ न कुछ ठुंसते रहते है। जो गलत है, अगर आप खाने–पीने में कमी करोगे तो आपकी सेहत बनना मुश्किल है। जब भी आपको भूख लगती है तब खुद को न रोकें, उस समय कुछ खा लें। भूख के समय शरीर को भोजन दो तो पाचन तन्त्र -healthy digestive system भी अच्छा बना रहेगा।

10. शराब और सिगरेट से दूर रहे-
शराब और सिगरेट हमारे Health के लिए ठीक नहीं होते यह शायद आपको बताने की जरुरत नहीं है। यह आप जानते हो फिर भी जानने के बावजूद लोग इसका सेवन करते रहते है। इनका लगातार सेवन करते रहने से हमारा पाचन तन्त्र ख़राब हो जाता है और कई बीमारियाँ भी घेर देती है। इसके अलावा चाय और कॉफ़ी से भी दूरी बनाये रखें।

11. अधिक खाना खाने से बचें –जानकारों के अनुसार आवश्यकता से अधिक भोजन लेना हमारे स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता। अधिक खाने से हमें अपच हो सकती है। जितनी भूख हो हमें उतना ही खाना चहिए। कई बार लोग स्वाद के चक्कर में अधिक खाना खा लेते है और बाद में उन्हें पछताना पड़ता है। आप खाने से ज्यादा प्राथमिकता अपने शरीर को दें। अधिक खाना लेने से हमारे पाचन तन्त्र (digestive system) पर अधिक दबाव पड़ता है जो की उचित नहीं है।

13. ऑयली एवं वसायुक्त खाने से परहेज करें –जैसे-जैसे हमारी उम्र बढती जाती है.. हमारे लिए ऑयली खाने को पचा पाना मुश्किल होने लग जाता है। अगर हम ऑयली Oily खाना ज्यादा खा लेते हैं, तो इससे हमें उल्टी, अपच और खट्टी डकारे हो सकती है। इनसे बचने के लिए जरुरी है कि इन चीजों को बहुत ही कम मात्रा में खायें।

15. रोजाना व्यायाम करें – व्यायाम करना हमारे शरीर Body के लिए बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना Exercise को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। रोज एक्सरसाइज करने से हमें खाना बेहतर रूप से पचता है। इसके अलावा यह हमारे वजन का सही स्तर बना रहता है जो हमारे Digestive Health के लिए अच्छा है।

आप इन्हें भी पढ़ सकते हैं और वीडियो भी देख सकते हैं

अच्छे स्वास्थ्य के लिए घर में अजमाएं ये 8 काम की बातें

तुलसी के औषधीय गुण व उपयोग |

आंवला मुरब्बा बनाने की विधि | Amla murabba Recipe

लहसुन Garlic के क्या-क्या फायदे खाने में क्यों शामिल करें

उत्तराखंड पहाड़ों में कैसे रहते हैं Documentary film

पेट को दुरुस्त रखने के उपाय-healthy digestive system

खाने में फाइबर को शामिल करे :- चेर्री, अँगूर, साबुत अनाज और बादाम जैसे फाइबर से भरे हुए खाद्य पदार्थ को अपने खाने में शामिल करे। इन खाद्य पदार्थो को अपने भोजन में शामिल करने से आपका हाजमा दुरुस्त रहेगा ।

दही खाएं :-
दही में प्रोबिओटिक होते है, जो पाचन को अच्छा रखते है। पाचन शक्ति (digestive system) बढ़ाने के लिए दही का सेवन करना बहुत ही फ़ायदेमंद होता है।

नींबू पानी पिए :-
अगर आपको सुबह गर्म पानी पीना पसंद नहीं है, तो एक गिलास में निम्बू का रस निचोड़ कर उसे पीए। इससे आपके पेट में बन रहा एसिड कम हो जायेगा और आपका पेट भी साफ़ रहेगा ।

गर्म पानी पिए :-
भोजन पचने में परेशानी हो रही हो तो गर्म पानी पीए। सुबह गर्म पानी पीना चाहिए और भोजन से कम से कम 30 मिनट्स पहले पानी पीने से पाचन तंत्र ठीक रहता है।

 https://livecultureofindia.com/healthy-digestive-system/

विटामिन सी से भरपूर चीज़े खाये :
टमाटर, कीवी और स्ट्रॉबेरी जैसे विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थो का सेवन करे। विटामिन सी से भरे हुए फल और सब्ज़िया खाये ।

ऐसे बढ़ाएं पाचन शक्ति-(digestive system)

1. इलायची खाएं- इलायची का सेवन एक गर्भवती महिला के लिए बहुत लाभकारी होता है। यह गर्भवती स्त्री के पाचन सम्बन्धी परेशानियों को दूर करता है। आप इलायची को चाय के साथ के सकते है।
2. अदरक खाएं – अदरक हमारे शरीर में भोजन पचाने वाले पाचक रस और एंजाइम बनाता रहता है। इसका रस पाचन शक्ति को खराब होने से रोकता है। आप खराब पाचन को सही और मजबूत करने के लिए अदरक का सेवन करे।
3. निम्बू लें – नींबू हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है.
इसका सेवन करते रहने से यह हमारे पेट की कई समस्याएं दूर कर देता है। नींबू हमारी बदहजमी और पेट की गैस को दूर करता है। यह हमारे पाचन शक्ति के लिए भी लाभकारी होता है।
4. सलाद खाएं- खाने में अगर सलाद हो तो खाने का मजा दोगुना बढ़ जाता है. सलाद अच्छे खाने के साथ – साथ हमारे हेल्थ के लिए भी अच्छा है। खाने को अगर अच्छी तरह पचाना है तो खाने के साथ सलाद भी ले। जिसमे आप नींबू, टमाटर और प्याज ले सकते है।
5. अमरुद खाएं – अमरुद एक बहुत ही उपयोगी फल है जो पौष्टिक होता है। अमरुद में विटामिन सी, फास्फोरस और पौटेशियम पाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। अमरुद के सेवन करते रहने से मस्तिष्क, ह्रदय और पाचन शक्ति मजबूत बनती है।
6. सौंफ का प्रयोग करें – एसिडिटी को दूर करने के लिए, सीने की जलन कम करने के लिए और खाना अच्छी तरह पचाने के लिए आप सौफ ले सकते है। रोजाना एक एक चम्मच सौंफ लेने से पाचन क्रिया सही बनी रहती है।
7. एलोवेरा लें- पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल करे। एलोवेरा हमारी पाचन सम्बन्धी रोगों को दूर करता है जिसमे सुजन और पेट का अल्सर शामिल है. पानी के साथ आप एलोवेरा जेल का इस्तेमाल कर सकते हो।
8. हल्दी का प्रयोग करें – हल्दी हमारे शरीर के अपच, अल्सर,पित्त निकालने और पाचन से सम्बन्धित अन्य समस्याओ को दूर करता है। पाचन सम्बन्धी समस्याए दूर करने के लिए एक ग्लास पानी के साथ हल्दी लेते रहे।
9. आंवले लेते रहे – आंवला हमारे शरीर में विटामिन सी की कमी को दूर करता है. आवले का लगातार सेवन करते रहने से यह हमारे पाचन तन्त्र को ख़राब होने से बचाता है। आंवले को पीस करके उसमे काली मिर्च, हींग और जीरा मिला कर भी आप ले सकते है।

 https://livecultureofindia.com/healthy-digestive-system/
10. पपीता खाएं- कच्चा पपीता सेहत के लिए बहुत अच्छा है। आंत की कमजोरी के कारण शरीर में विटामिन्स का संचय नहीं होता है तो हम पपीते के सेवन से विटामिन सी प्राप्त कर सकते हैं। इसमें पपाइन होता है जो कि प्रोटीन को विभाजित करता है और खाने को पाचन योग्य बनाता है और पाचन क्रिया को प्रबल बनाता हैं।
11. केला खाएं – केला हर मौसम और हर सीजन में मिल जाता है. यह हमारे पेट के लिए बहुत Better है। सस्ता होने के साथ – साथ यह हमारे पाचन शक्ति को भी बढाता है। इसलिए केला खाएं और अपनी सेहत बनाये।
इसके अलावा भी आप अपने भोजन में मूंग, अंकुरित चना, गेहूं और जौ की रोटियां शामिल करे और इन फलों को आम, अनार, अंजीर, अमरूद और संतरे को लेते रहें। ये फल आपके पेट को साफ़ रखेंगे जिससे आपका पाचन तन्त्र मजबूत बनेगा।

पाचन शक्ति (digestive system) को दुरुस्त करने के अन्य घरेलू नुस्खे

– अपने भोजन को हमेशा चबा – चबा कर खाएं जिससे भोजन अच्छी तरह पचे।
– दही का सेवन हमारे पाचन के लिए अच्छा होता है, खाने में दही शामिल करें।
– मीठे अनार का रस मुंह में लेने से आंत दोष ठीक होता है और पाचन शक्ति बढती है।
– अजवाइन को पानी में उबाल कर पीने से भी पाचन तंत्र सही रहता है।
– रोजाना 3 ग्राम काली राई लेने से कब्ज वाली बदहजमी दूर हो जाती है।
– अनानास का रस हमारे पाचन के लिए लाभदायी होता है।
– अमरूद के पत्तों में शक्कर मिलाकर सेवन करने से बदहजमी दूर हो जाती है।
– हरड़ का मुरब्बा भी हमारे पाचन के लिए अच्छा होता है।
– नींबू पर काला नमक लगाकर चाटते रहे इससे बदहजमी दूर हो जाएगी.
– हींग का उपयोग करें.. इसका प्रयोग बदहजमी और गैस को दूर करने के लिए किया जाता है।

पाचन तंत्र (digestive system) को बेहतर बनाने वाले योग आसन

जिस तरह योग आज कई लोगो की ज़िन्दगी से रोगों को दूर कर रहा है। ऐसे ही योग हमारे पाचन तंत्र (digestive system)को भी दुरुस्त कर सकता है। पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए आप यहां बताए गए योगासनों को भी आजमा सकते है। इन्हें रोजाना करने से पाचनतंत्र में सुधार आता है और शरीर भी स्वस्थ और मजबूत बनता है।

1. नौकासन –
नौकासन करने के लिए पहले पीठ के बल नीचे लेट जाए. फिर अपने पैरों को, हाथो को और सिर को ऊपर को उठाये। कुछ देर ऐसा करने पर फिर से अपनी पुरानी अवस्था में आ जाये। नौकासन करने से पाचन तंत्र में सुधार आता है।

2. त्रिकोण आसन –
यह आसन करने के लिए पहले सीधे खड़े हो जाए. अपने दोनों पैरों के बीच कुछ दूरी रखे। धीरे–धीरे सांस लें और अपने दोनों हाथो को कंधे के साथ लाये। फिर कमर को झुकाकर बाएं हाथ से दायें पैर को छुएं और अपने दायें हाथ को आसमान की ओर सीधा करे। फिर दूसरे हाथ से ऐसा करे। ऐसा करते हुए धीरे – धीरे यह प्रक्रिया अपनाये।

3. पश्चिमोत्तानासन –
इस आसन को करने के लिए बैठ जाए और अपने पैरों को सीधा कर ले। फिर अपने दोनों हाथो को ऊपर को उठाये। फिर दोनों हाथो से झुककर अपने पैरों के अंगूठे पकड़ने की कोशिश करे। ऐसा कुछ देर करते रहने से हमारे शरीर को फायदा होता है।

4. प्लाविनी योग –
प्लाविनी प्राणायाम को करने के लिए पहले अपने पेट में सांस भर ले। फिर अपने कंठ को सीने से लगाकर बंद कर दे और कुछ देर तक ऐसे ही रहे। इसके बाद धीरे
– धीरे सांसे छोड़ते हुए अपनी पुरानी मुद्रा में आ जाए। प्लाविनी प्राणायाम से हमारे मलद्वार और आंत बेहतर ढंग से अपना कार्य करते है जिससे हमारा पाचन तंत्र भी ठीक होता है।

5. अग्निसार योग –
अग्निसार योग करने के लिए अपने साँस को छोड़ते हुए रोक लें। जब आप अपनी सांस रोके तब अपने पेट को नाभि से तेजी से अन्दर को खींचे और ढीला करें। ऐसा करने से आपका पाचन तन्त्र मजबूत होगा।

6. भुजंगासन –
भुजंगासन करने के लिए पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाएं। फिर अपने दोनों हाथो से कमर को ऊपर की तरफ उठाये। अपने हाथो को खुला रखे। फिर धीरे–धीरे पूरे शरीर को आगे को ले जाए। इस आसन से पेट की मसल्स अच्छे हो जाते है।

7. वज्रासन –
वज्रासन करने के लिए जैसे नमाज पड़ते है उसी तरह से बैठ जाए। इस क्रिया में अपने शरीर का भार अपने पंजो और पैरों पर रख दें और दोनों हाथों को सामने घुटने की तरफ रखे। धीरे–धीरे सांस लेते रहे और छोड़ते रहें।

 

Leave a Reply