तकनीकों से लैस आकाश प्राइम मिसाइल का टेस्ट हुआ सफल,

जमीन से आसमान में मार करने वाले आकाश प्राइम मिसाइल Akash Prime Missile ने दिखाया कि वह किस तरह दुश्मन के विमानों का पता लगाकर सटीक मारक क्षमता इसे ध्वस्त करने में सक्षम है। इसका का परीक्षण सोमवार 27 सितंबर, को ओडिशा के चांदीपुर इंटिग्रेडेट टेस्ट रेंज (ITR)शाम लगभग 4:30 बजे किया गया जो कि सफल रहा,
Akash Missile के अडवांस वर्जन में सुधार के बाद किए गए परीक्षण में इस मिसाइल ने अपनी पहली उड़ान में दुश्मन के विमानों की शक्ल में बनाए गए एक मानव रहित हवाई लक्ष्य को रोक कर नष्ट कर दिया। मौजूदा आकाश प्रणाली की तुलना में आकाश प्राइम बेहतर सटीकता के लिए एक स्वदेशी सक्रिय रेडियो फ्रीक्वेंसी (आरएफ) सीकर से लैस है।

इन्हें भी पढ़ें-

पितर कौन होते हैं और तर्पण किन को दिया जाता, जाने

Beautiful Place Badani Tal Uttarakhand | बधाणीताल

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

Winter Gaddiasthan of Makku Math Baba Tungnath ji

फेसियल करने का सही तरीका-The right way to do facial

देशी गाय के घी के फायदे

मिसाइल में किए गए अन्य सुधार भी उच्च ऊंचाई पर कम तापमान वाले वातावरण में अधिक विश्वसनीय प्रदर्शन सुनिश्चित करते हैं। मौजूदा उड़ान परीक्षण के लिए वर्तमान आकाश हथियार प्रणाली की संशोधित जमीनी प्रणाली का इस्तेमाल किया गया है। आईटीआर के रेंज स्टेशनों में रडार, इलेक्ट्रो ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम (ईओटीएस) और टेलीमेट्री स्टेशन शामिल हैं जिन्होंने मिसाइल के प्रक्षेपवक्र और उड़ान मापदंडों की निगरानी की।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आकाश प्राइम मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ, भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना, रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (डीपीएसयू) और उद्योग जगत को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि सफल उड़ान परीक्षण विश्व स्तरीय मिसाइल प्रणालियों के डिजाइन और विकास में डीआरडीओ की क्षमता को साबित करता है ।

इन्हें भी पढ़ें-

श्राद्ध पक्ष 2021: महत्व नियम जानें, किस दिन कौन सा श्राद्ध है

सिंपल वेज बिरयानी रेसिपी-Easy Veg Biryani Recipe

कच्चे केले के छिल्के की चटनी

दीपावली पूजन में 10 बातों का रखें ध्यान घर में होगी महालक्ष्मी की कृपा

रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव एवं डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ जी सतीश रेड्डी ने आकाश प्राइम मिसाइल के सफल उड़ान परीक्षण के लिए टीम को बधाई दी । उन्होंने कहा कि आकाश प्राइम प्रणाली उपयोगकर्ताओं (भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना) के विश्वास को और बढ़ावा देगी क्योंकि आकाश मिसाइल प्रणाली पहले ही शामिल हो चुकी है और अब और अधिक घातक मिसाइलों के साथ इसमें सुधार हो रहा है

Documentary film 

Nirankar Dev Pooja in luintha pauri garhwal Uttarakhand

village life Uttarakhand India part 5

Leave a Reply