UP में भूमि माफिया की कब्ज़ाई भूमि पर बनेगा “इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज” गृह मंत्री अमित शाह ने किया शिलान्यास

UP में भूमि माफिया की कब्ज़ाई भूमि पर बनेगा “इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज” गृह मंत्री अमित शाह ने किया शिलान्यास

1अगस्त को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह एक दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचे। इस दौरान एयरपोर्ट पर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का स्वागत किया। अमित शाह ने लखनऊ में उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज (Institute of Forensic Sciences) का शिलान्यास किया.

इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज (Institute of Forensic Sciences) के शिलान्यास कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा 2017 से पहले उत्तर प्रदेश में क़ानून व्यवस्था बदहाल थी।माफिया राज इतना हावी था कि आज जिस भूमि पर हम इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज की स्थापना कर रहे हैं, इस 142 एकड़ भूमि पर एक माफिया कब्ज़ा करने जा रहा था। हमने कार्रवाई कि और माफिया उस ज़मीन से भाग गया, उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में 4 वर्षों के अंदर जो परिवर्तन हुआ है, वो गृह मंत्री जी की वजह से ही है.

उत्तर प्रदेश में जो परिवर्तन हुआ है वो किसी से छिपा नहीं है. सीएम योगी ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस अब नए सिरे से काम करती नजर आ रही है. 2019 में गृह मंत्री बनने के बाद अमित शाह ने अपराध के संदर्भ में इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज (Institute of Forensic Sciences) के निर्माण का विचार उत्तर प्रदेश सरकार को दिया और आज इस इंस्टीट्यूट का शिलान्यास संपन्न हुआ

(Institute of Forensic Sciences) शिलान्यास कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज एक विशाल संकुल बनाकर आगे बढ़ेगा,अनेक बच्चे यहाँ अनुसंधान में हिस्सा लेकर न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश की क़ानून और व्यवस्था की रीढ़ बनने का काम करेंगे,योगी जी के नेतृत्व में यह इंस्टीट्यूट देशभर के पुलिस आधुनिकीकरण के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित हो,नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने वहाँ विश्व में अपनी तरह की सबसे पहली फ़ोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी बनाने का काम किया,भारत सरकार ने यहाँ एक डीएनए केन्द्र बनाने के लिए 15 करोड़ रूपये की राशि आवंटित की है जिससे यहाँ देश का सबसे आधुनिक डीएनए केन्द्र बनाया जाएगा

मुझे याद है उत्तर प्रदेश में पहले, दिनदहाड़े गोलियां चलती थीं,महिलाएं असुरक्षित थीं, यहाँ पर माफियाओं का राज रहता था. आज 2021 में में उसी उत्तर प्रदेश में खड़ा हूं तो गर्व से कहता हूं कि योगी आदित्यनाथ जी ने उत्तर प्रदेश को आगे ले जाने का काम किया. भारतीय जनता पार्टी देश के विकास के लिए काम करती है. उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार कम हुआ है.भ्रष्टाचारियों के दिल में योगी जी का खोब है,अमित शाह ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा शासन एक जाति के लिए नहीं, शासन और सरकार सबके लिए होनी चाहिए सरकारें जातियों और परिवारों के आधार पर नहीं चलतीं, नजदीक के व्यक्तियों के लिए नहीं चलतीं.

 

इन्हें भी पढ़ें-

सावन को सबसे पवित्र महीना क्यों कहा गया जानिए

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

लौंग के फायदे | 14 Benefits Of Cloves

Deepawali 2021 | दीपावली कब है | दिवाली में लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त

ये फॉरेंसिक साइंस इंस्टिट्यूट 36 एकड़ जमीन पर बनगा इसकी लागत 350 करोड़ रुपए के आसपास है ये अपनी तरह का अनोखा इंस्टिट्यूट होगा.इस फॉरेंसिक साइंस इंस्टिट्यूट में फॉरेंसिक मामलों में दुनिया में अपना डंका बजवाने वाले इज़राइल के एक्सपर्ट फॉरेंसिक जानकारी की बारीकियां सिखाएंगे यहाँ देश के छात्र-छात्राओं के साथ नेपाल, भूटान, मालदीव और श्रीलंका जैसे पड़ोसी देशों के स्टूडेंट भी एडमिशन ले सकेंगे.

Documentary film

Village Life in Uttarakhand India part 3

गृह मंत्री ने यह भी कहा कि आज की पुलिसिंग 20 साल पहले जैसी नहीं है,आज जाली नोट, नार्कोटिक्स, नार्को टेरर, आतंकवाद, साइबर अपराध, आर्थिक अपराध, हथियारों की तस्करी, गौ तस्करी जैसे अनेक अपराध आ गए हैं जिनसे लड़ने के लिए देशभर के पुलिस बल को  आधुनिक बनाने की ज़रूरत है।इसी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से गृह मंत्रालय ने नेशनल फ़ोरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी और राष्ट्रीय रक्षा यूनिवर्सिटी की स्थापना की है।श्री अमित शाह ने कहा कि पुलिस दो ही कारणों से बदनाम होती है, नो एक्शन और एक्स्ट्रानेट एक्शन। नो एक्शन ठीक नहीं है क्योंकि अकर्मण्यता क़ानून व्यवस्था को ठीक नहीं कर सकती और एक्ट्रीम एक्शन भी ठीक नहीं है क्योंकि यह उसकी प्रतिक्रिया का निर्माण करता है। इसलिए पुलिस को इनसे निकलकर जस्ट एक्शन की दिशा में एक स्वभाविक प्रतिक्रिया की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए।इसमें ये दोनों यूनिवर्सिटी बहुत बड़ा काम करेंगी।

 

Leave a Reply