उत्तराखंड में शुरू हुआ ई-सुरक्षा चक्र हेल्पलाईन,मुख्यमंत्री ने पी.टी.सी नरेन्द्र नगर के दीक्षांत समारोह में किया शुभारंभ

उत्तराखंड में शरू हुई ई-सुरक्षा चक्र हेल्पलाईन मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज पी.टी.सी नरेन्द्र नगर के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए, जहाँ साइबर अपराधों में रोकने हेतु ई-सुरक्षा चक्र (E financial cyber crimes Helpline number) हेल्पलाईन नम्बर 155260 का शुभारंभ किया।

यह ई-सुरक्षा चक्र हेल्पलाईन,नम्बर विशेषकर वित्तीय साइबर अपराधों (E financial cyber crimes) में त्वरित सहायता के लिए है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हेल्पलाईन नम्बर का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाये।

https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/ई-सुरक्षा-चक्र-हेल्पलाईन/

इस दौरान शासकीय प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री श्री सुबोध उनियाल ने उत्तराखण्ड पुलिस के अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा किई-सुरक्षा चक्र हेल्पलाईन, नम्बर जारी करने वाला उत्तराखण्ड देश का तीसरा राज्य बना इसके लिए उत्तराखण्ड पुलिस बधाई के पात्र है।

मुख्यमंत्री ने कहा आज के समय में साइबर अपराध एक बहुत बड़ी चुनौती है|इस चुनौती से लड़ने के लिए उत्तराखंड पुलिस का यह सराहनीय काम है

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत आज पी.टी.सी नरेन्द्र नगर  दीक्षांत समारोह में शामिल हुए, जहाँ मुख्यमंत्री ने पास आउट परेड की सलामी ली,

इन्हें भी पड़ें-किरायेदार-मकान मालिक को मिलेंगे कई अधिकार,Model Tenancy Actworld brain Tumour day

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रशिक्षणरत पुलिस उपाधीक्षकों को प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने पर सम्मानित भी किया।

मुख्यमंत्री ने इस दौरान प्रशिक्षणरत पुलिस उपाधीक्षकों को प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन करने पर बधाई दी व सम्मानित भी किया।

मुख्यमंत्री द्वारा जिन पुलिस उपाधीक्षकों को सम्मानित किया गया उनमें सुश्री रीना राठोर, सुश्री नताशा सिंह, श्री अभिनय चौधरी, श्री स्वप्निल मुयाल, श्री सुमित पाण्डे शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा पी.टी.सी में जल्द Auditorium का निर्माण किया जायेगा। साइबर क्राइम को रोकने हेतु पाठ्यक्रम शुरू किये जायेंगे तथा पुलिस प्रशिक्षण संस्थानों में कार्यरत प्रशिक्षकों को प्रशिक्षण भत्ता भी दिया जायेगा।

उत्तराखण्ड में पर्यटकों व श्रद्धालुओं के आवागमन को ध्यान में रखते हुए राज्य पुलिस की भूमिका अत्यन्त ही महत्वपूर्ण हो जाती है। पुलिस को न केवल पर्यटकों के आवागमन को सुदृढ़ एवं सुरक्षित बनाने में अहम भूमिका निभानी है,अपितु पर्यटकों को सुरक्षित भी महसूस करवाना होता है।

इन्हें भी पड़ें- बिना हॉलमार्क का सोना,14, 18 और 22 कैरेट वाला नहीं बेच पाएंगे ज्वैलर्स

भविष्य में साईबर एवं डिजिटल तकनीकी के माध्यम से होने वाले आर्थिक अपराधों, साईबर अपराधों एवं सामाजिक अपराधों से निपटना पुलिस के लिए प्रमुख चुनौती है। इसको भी ध्यान में रखते हुए प्रशिक्षण के दौरान साइबर अपराधों से निपटने की भी जानकारी उन्हें दी गई है।

मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने साइबर अपराधों में रोकने हेतु ई-सुरक्षा चक्र हेल्पलाईन नम्बर 155260 का शुभारंभ किया। यह नम्बर विशेषकर वित्तीय साइबर अपराधों में त्वरित सहायता के लिए है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हेल्पलाईन नम्बर का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाये।

पड़ें–उत्तराखंड में बच्चों के लिये पीवीसी वैक्सीनेशन की हुई शुरुआत

इस दौरान शासकीय प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री श्री सुबोध उनियाल ने उत्तराखण्ड पुलिस के अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि हेल्पलाईन नम्बर जारी करने वाला उत्तराखण्ड देश का तीसरा राज्य बना इसके लिए उत्तराखण्ड पुलिस बधाई के पात्र है।

इस दौरान डीजीपी अशोक कुमार, एडीजी वी. विनय कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, श्री पी.वी.के. प्रसाद, पुलिस महानिरीक्षक श्री अमित सिन्हा, श्री संजय गुंज्याल, श्री पूरन सिंह सिंह रावत, श्री मुख्तार मोहसिन, पुलिस उपमहानिरीक्षक, श्री समेत कई पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

वीडियो देखें

traditional culture documentary film

Leave a Reply