उत्तराखंड भूकंप अलर्ट एप’ अब भूकंप से पहले ही मिल जाएगी चेतावनी, IIT रुड़की ने बनाया मोबाइल एप्लीकेशन,

उत्तराखण्ड भूकंप अलर्ट एप (earthquake alert app) इस के माध्यम से लोगों को भूकंप से पूर्व चेतावनी मिल सकेगी इस एप को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रूड़की (IIT Roorkee) द्वारा विकसित किया गया मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में मोबाइल एप्लीकेशन (Mobile Application)‘‘ उत्तराखण्ड भूकंप अलर्ट’ लांच किया, उत्तराखण्ड यह एप बनाने वाला पहला राज्य होगा

उत्तराखण्ड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, आपदा प्रबंधन विभाग एवं भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रूड़की (IIT Roorkee) के सौजन्य से बनाये गये इस एप के माध्यम से भूकम्प से पूर्व चेतावनी मिल जायेगी। इससे जन सुरक्षा में मदद मिलेगी। इस एप के माध्यम से भूकंप के दौरान लोगों की लोकेशन भी प्राप्त की जा सकती है। भूकंप अलर्ट के माध्यम से भूकंप से क्षतिग्रस्त संरचनाओं में फँसे होने पर सूचना दी जा सकती है।

इन्हें भी पढ़ें-

सावन को सबसे पवित्र महीना क्यों कहा गया जानिए

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

लौंग के फायदे | 14 Benefits Of Cloves

Deepawali 2021 | दीपावली कब है | दिवाली में लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त

छठ पूजा में किन की पूजा होती और कैसे मनाते हैं

इस मोबाइल एप्लीकेशन उत्तराखण्ड भूकंप अलर्ट को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड भूकंप की दृष्टि से संवेदनशील राज्य है। इस एप के माध्यम से लोगों को भूकंप पूर्व चेतावनी मिल सके, इसके लिए इस एप की लोगों को जानकारी दी जाय। विभिन्न माध्यमों से व्यापक स्तर पर इसका प्रचार प्रसार किया जाय।

आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा इसकी लघु फिल्म बनाकर जनजन तक पहुंचाया जाय। स्कूलों में भी बच्चों को लघु फिल्म के माध्यम से इस एप के बारे में जानकारी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन लोगों के पास एंड्राइड फोन नहीं है, उनको भी भूकंप से पूर्व चेतावनी मैसेज पहुंच जायेगा, भूकंप पूर्व चेतावनी में सायरन एवं वायस दोनों माध्यमों से अलर्ट की व्यवस्था की गयी। भूकंप पूर्व चेतावनी के लिए सायरन टोन अलग से होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भूकंप पूर्व चेतावनी के लिए यह एक अच्छी पहल है।

इस अवसर पर आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, मुख्य सचिव डॉ. एस.एस.संधु, अपर मुख्य सचिव श्री आनंद बर्द्धन, सचिव आपदा प्रबंधन श्री एस.ए. मुरूगेशन, आई.आई.टी. रूड़की के प्रो. कमल एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Documentary film

Village Life in Uttarakhand India part 3