उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर देशवासियों को दी बधाई

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। संबोधित करते हुए कहा मैं 76वें स्वतंत्रता दिवस के उल्लासपूर्ण अवसर पर देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई देता हूं।आज जब हम विगत पचहत्तर वर्षों में देश की उपलब्धियों का उत्सव मना रहे हैं, हम यह भी याद रखें कि यह आज़ादी कितने कठिन संघर्ष के बाद अर्जित की गई। स्वतंत्रता दिवस हमें उन वीर स्वतंत्रता सेनानियों को स्मरण करने तथा उन्हें श्रद्धांजलि देने का भी अवसर है, जिनके साहस और बलिदान ने हमें एक दमनकारी औपनिवेशिक शासन से मुक्ति दिलायी।

आज, आधुनिक भारत के उन निर्माताओं के प्रति अपनी कृतज्ञता ज्ञापित करने का भी दिन है जिनके श्रम और संकल्प ने एक संप्रभु, स्थायी और सुदृढ़ गणतंत्र की नींव डाली। आज, भारत संभावनाओं और सामर्थ्य से परिपूर्ण देश है जो सर्वांगीण विकास के पथ पर तेज़ी से आगे बढ़ रहा है।

इन्हें भी पढ़ें-

krishna janmashtami 2022- व्रत 18 अगस्त और श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव 19 अगस्त मना सकते हैं

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

रुद्राभिषेक क्या है – Rudrabhishek के आश्चर्यजनक लाभ

बांस की लकड़ी नहीं जलाई जाती है इसके धार्मिक कारण क्या हैं

सर्दियों में ड्राई स्किन से बचें -10 Tips prevent dry skin

नोनी फल का जूस पीने के 9 फायदे – 9 Benefits of Noni Juice

घर पर बनाएं पाव भाजी रेसिपी- Pav Bhaji recipe

कार्तिक महीना क्यों खास है हिंदू धर्म में-जाने जरूरी जानकारी

त्रिजुगी नारायण मंदिर- world oldest religious Temple-Kedarnath

आज जब हम आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, यह समय है कि हमारे महान क्रांतिकारियों और स्वाधीनता सेनानियों की प्रेरणादायक शौर्यगाथाऐं बारंबार सुनी और सुनायी जाएं जिससे हमारी युवा पीढ़ी को देशभक्ति, बलिदान तथा सेवा जैसे सद्गुणों को आत्मसात करने की प्रेरणा मिल सके।

आज इस स्वाधीनता दिवस के अवसर पर हम ‘भारत’ के सभ्यतागत संस्कारों तथा संवैधानिक मूल्यों के प्रति पुनः कटिबद्ध हों तथा एक समावेशी, प्रगतिशील और समृद्ध भारत के निर्माण के लिए स्वयं को समर्पित करें।

Documentary film

पहाड़ी रीति रिवाज Documentary Film on Traditional Culture, गांव में दादाजी की बरसी, PART-1

उत्तराखंड में दिवाली कैसे मनाते हैं | Uttarakhand village Documentary PART-1

Himalayan women lifestyle Uttarakhand India

village life Uttarakhand India part 5

निरंकार देव पूजा पौड़ी गढ़वाल उत्तराखंड, Nirankar Dev Pooja in luintha