उपराष्ट्रपति ने कोविड-19 के दौरान अपने नए प्रयासों के साथ शानदार प्रदर्शन करने के लिए रेलवे की की सराहना

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने कोविड-19 महामारी के दौरान शानदार प्रदर्शन करने तथा कोविड-19 द्वारा पेश की गई अभूतपूर्व चुनौतियों से ‘पहियों को गतिमान एवं ग्राहकों को सुरक्षित रखने’ के बारे में किए गए नए प्रयासों के लिए भारतीय रेलवे की सराहना की।नायडु ने कोविड केयर आइसोलेशन कोच, श्रमिक स्पेशल ट्रेनों और ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ रेलगाडियों का उदाहरण देते हुए कहा कि भारतीय रेलवे ने अपनी पूरी मशीनरी को तैयार किया है और महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने में देश की मदद की है।

उपराष्ट्रपति ने पीपीई, कवरऑल, हैंड सैनिटाइज़र्स और मास्क के आंतरिक विकास और उत्पादन एवं शहरों और गांवों में चिकित्सा उपकरणों तथा सामान्य वस्‍तुओं की ढुलाई सुनिश्चित करने के लिए भी रेलवे की प्रशंसा की। उन्‍होंने कहा कि रेलवे के इस सक्रिय रुख के कारण विभिन्‍न वस्‍तुओं और खाद्य भंडार की कमी को दूर करने में काफी हद तक सफलता मिली है। इस प्रकार रेलवे ने न केवल महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने में देश की मदद की है बल्कि जरूरत के समय में यह एक आवश्यक जीवन रेखा भी साबित हुई है। श्री नायडु विशाखापत्तनम रेलवे स्टेशन पर उन्नत एल.एच.बी. (लिंके हॉफमैन बुश) और अतिरिक्त विस्टाडोम कोच वाली विशाखापत्तनम-किरंदुल पैसेंजर ट्रेन को हरी झंडी दिखाने के बाद बोल रहे थे।

इन्हें भी पढ़ें-

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती-himalayan women lifestyle

सर्दियों में ड्राई स्किन से बचें -10 Tips prevent dry skin

नोनी फल का जूस पीने के 9 फायदे – 9 Benefits of Noni Juice

इस शहर के साथ अपने घनिष्ठ संबंधों का स्‍मरण करते हुए उपराष्ट्रपति ने सरकार को धन्यवाद दिया और विशाखापत्तनम-अराकू के मार्ग में विस्टाडोम कोच के उपयोग में तेजी लाने के लिए रेल मंत्रालय को दिए उनके सुझाव पर ध्यान देने के लिए रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव के निर्णय की भी सराहना की।अनेक मोड़, सुरंगों और पुलों के माध्यम से पूर्वी घाट के सुंदर, पहाड़ी इलाके से गुजरने वाले इस मार्ग की पर्यटन क्षमता का उल्लेख करते हुए श्री नायडु ने कहा कि विस्टाडोम कोच की समग्र दृश्‍य प्रणाली यात्रियों के लिए उनकी यात्रा को एक अविस्‍मरणीय अनुभव बना देगी। उन्होंने इस ट्रेन में एलएचबी कोच लगाने के लिए रेलवे की भी सराहना की, क्‍यों‍कि इन कोच में यात्रियों को बेहतर आराम और सुरक्षा मिलती है।

इन्हें भी पढ़ें-

घर पर बनाएं पाव भाजी रेसिपी- Pav Bhaji recipe

कार्तिक महीना क्यों खास है हिंदू धर्म में-जाने जरूरी जानकारी

त्रिजुगी नारायण मंदिर- world oldest religious Temple-Kedarnath

स्वच्छता के लिए विशाखापत्तनम शहर की प्रशंसा करते हुए श्री नायडू ने एक जन आंदोलन के रूप में स्वच्छ भारत की गति को जारी रखने के लिए लोगों का आह्वान किया। विशेष रूप से उन्होंने लोगों से ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों को साफ रखने की जिम्‍मेदारी लेने का आग्रह किया।आंध्र प्रदेश के मंत्री श्री मुत्तमसेट्टी श्रीनिवास राव, लोकसभा सांसद श्री एम.वी.वी. सत्यनारायण, ईस्‍ट कोस्‍ट रेलवे की महाप्रबंधक सुश्री अर्चना जोशी, डीआरएम वाल्टेयर श्री अनूप कुमार सत्पथी और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।

Documentary film .

World’s Highest lord Shiva temple Uttarakhand Chopta Tungnath | PART -2

Leave a Reply