ऑनलाइन पढ़ाई में मोबाइल नहीं जनाब ऊंट आ रहे हैं यहाँ काम, शिक्षकों ने चलाया पढ़ाई का अभियान

ऑनलाइन पढ़ाई में मोबाइल नहीं जनाब ऊंट? जी हां आपने बिल्कुल सही पड़ा 21वीं सदी में जहां सब कुछ डिजिटल ऑनलाइन हो चुका है इस करोना महामारी में बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन चल रही है वहीं कुछ एसी ही जगह है जहां की भौगोलिक परिस्थिति के कारण जहाँ मोबाइल नेटवर्क, सड़कें नहीं हैं राजस्थान के थार के रेगिस्तान में मोबाइल नोटवर्क ही बड़ी चुन्नौती हैबच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए ऊंट ही सहारा है

कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल बंद हैं और बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं. लेकिन राजस्थान के इस पश्चिमी इलाके में मीलों तक फैले थार रेगिस्तान में कई इलाकों में मोबाइल नेटवर्क तक नहीं है| रेते के ढेरों के बीच बसे गांवो में ऑनलाइन शिक्षा दूर का सपना है. रेत के पहाड़ों के बीच बसे इन गांवों तक सड़कें नहीं हैं दूरदराज की ढाणियों और गांवों के बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई से भी वंचित न रह जायं,

राजस्थान के बाड़मेर. जिले के भीमथल सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य रूप सिंह जाखड़ और उनके शिक्षक स्टाफ ऐसे अभियान में जुटे हैं, जिसकी चर्चा चारों तरफ होने लगी है.

ऐसे में इन साहसी शिक्षकों ने छात्रों को पढ़ाने का रास्ता खोजा निकाला सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य रूप सिंह जाखड़ और उनके शिक्षक स्टाफ ऊंट पर सवार होकर आसपास की ढाणियों से छात्रों को एक जगह इकट्ठा कर खुले आसमान के नीचे पढ़ाते हैं

जहां तक पहुंचने का कोई साधन नहीं है और बच्चों को पढाते हैं| इन टीचर्स की बच्चों की पढ़ाई को लेकर इनके इस कार्य की आज चरों तरफ चर्चा हैं ये टीमें 21 जून से 3 अगस्त तक चलने वाले शिक्षा वाणी और शिक्षा दर्शन कार्यक्रम के तहत बच्चों को उनके घर तक जाकर पढ़ा रहे हैं.

इन्हें भी पढ़ें-

Amazing 4 Benefits of drinking Mattaka water,मटके का पानी के फायदे

एलोवेरा जेल का चेहरे और बालों पर उपयोग

dal dhokli recipe,दाल ढोकली रेसिपी

उत्तराखंड गांव की सांस्कृतिक परंपरा चक्रव्यूह

नोनी जूस के 9 फायदे – 9 Benefits of Noni Juice

सरकारी स्कूल के प्रधानाचार्य शवरूप सिंह और साथी शिक्षकों की टीम बच्चों के लिए निशुल्क मास्क, सैनिटाइजर, कॉपी-किताब, पेन-पेंसिल लेकर जाते है और अभिभावकों को भी बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रेरित करते हैं

आज कल सोशल मीडिया पर इस टीम के चर्चे हैं.स्कूल के प्रधानाचार्य और उनके शिक्षक स्टाफ जिसकी चर्चा चारों तरफ होने लगी है इनके इस होसले को देककर शिक्षा मंत्री टीम की खुलकर तारीफ कर रहे हैं,

Documentary film

Himalayan women lifestyle Uttarakhand

Leave a Reply