किसान आंदोलन: 22 जुलाई से करेंगे किसान संसद मार्च,

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे किसान संगठन 22 जुलाई को संसद मार्च करेंगे। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया सत्र में विपक्ष मज़बूती के साथ अपनी बात संसद में कह रहा है कल भी संसद में किसानों से जुड़ा मुद्दा उठाया गया,22 तारीख को 200 किसान संसद जाएंगे,

किसान संगठन इस सत्र के दौरान अपनी ओर से विरोध दर्ज कराना चाहते हैं और इसी को लेकर उन्होंने प्रदर्शन की रूपरेखा तैयार की है।

किसान संगठन पुलिस ने 22 जुलाई से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ संसद के समक्ष प्रस्तावित प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों के इस प्रस्तावित कार्यक्रमों को लेकर दिल्ली पुलिस ने रविवार को किसान संगठनों से वार्ता की है

आज 21 जुलाई को INLD नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला किसान आंदोलन के समर्नेथन में सिंघु बॉर्डर पहुंचे और कहा, हम लोग कल 22 तारीख को विपक्ष के संसद सदस्य संसद का घेराव करेंगे, धरना देंगे और इकट्ठे होकर संसद में जाएंगे और काले कानून का विरोध करेंगे। ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि सरकार को मजबूर होकर कानून वापस लेने पड़ेंगे