देश में खाद्यान्‍न उत्पादन के टूट सकते हैं सारे रिकॉर्ड,जानिए क्या है पूरी खबर

देश में खाद्यान्‍न का रिकार्ड उत्पादन 308.65 मिलियन टन का अनुमान

कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय द्वारा वर्ष 2020-21 के लिए मुख्‍य फसलों के उत्‍पादन का चौथा अग्रिम अनुमान जारी कर दिया गया हैं। खाद्यान्न का 308.65 मिलियन टन रिकार्ड उत्पादन का अनुमान है। केंद्रीय मंत्री तोमर ने बताया कि वर्ष 2020-21 के लिए चौथे अग्रिम अनुमान के अनुसार, देश में कुल खाद्यान्‍न उत्‍पादन रिकॉर्ड 308.65 मिलियन टन अनुमानित है, जो वर्ष 2019-20 के उत्‍पादन की तुलना में 11.14 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2020-21 के दौरान खाद्यान्‍न उत्‍पादन विगत पांच वर्षों (2015-16 से 2019-20) के औसत खाद्यान्‍न उत्‍पादन की तुलना में 29.77 मिलियन टन अधिक है।

इन्हें भी पढ़ें-

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

मुंह के छालों का घरेलू 9 उपाय जरुर आजमायें

पहाड़ों का लाजवाब आटे वाला दूध का हलवा

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि किसानों के अथक परिश्रम, वैज्ञानिकों की कुशलता और भारत सरकार की कृषि एवं किसान हितैषी नीतियों से देश में रिकार्ड खाद्यान्न उत्पादन हो रहा है। भारतीय कृषि को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार, राज्यों के साथ मिलकर ठोस कार्य कर रही है, जो आगे भी जारी रहेगा।

वर्ष 2020-21 के दौरान चौथे अग्रिम अनुमान के अनुसार, मुख्‍य फसलों के अनुमानित उत्‍पादन

खाद्यान्‍न- 308.65 मिलियन टन (रिकार्ड)

चावल- 122.27 मिलियन टन (रिकार्ड)
गेहूं- 109.52 मिलियन टन (रिकार्ड)
पोषक/मोटा अनाज– 51.15 मिलियन टन
मक्‍का- 31.51 मिलियन टन (रिकार्ड)
दलहन- 25.72 मिलियन टन (रिकार्ड)
तूर- 4.28 मिलियन टन
चना- 11.99 मिलियन टन (रिकार्ड)
तिलहन– 36.10 मिलियन टन (रिकार्ड)
मूंगफली- 10.21 मिलियन टन (रिकार्ड)
सोयाबीन- 12.90 मिलियन टन
रेपसीड एवं सरसों- 10.11 मिलियन टन(रिकार्ड)
गन्‍ना –399.25 मिलियन टन
कपास- 35.38 मिलियन गांठें (प्रति 170 कि.ग्रा.)
पटसन एवं मेस्‍टा- 9.56 मिलियन गांठें (प्रति 180 कि.ग्रा.)

वर्ष 2020-21 के दौरान चावल का कुल उत्‍पादन रिकॉर्ड 122.27 मिलियन टन अनुमानित है। यह विगत पांच वर्षों के 112.44 मिलियन टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 9.83 मिलियन टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान गेहूं का कुल उत्‍पादन रिकॉर्ड 109.52 मिलियन टन अनुमानित है। यह 100.42 मिलियन टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 9.10 मिलियन टन अधिक है।

इसी प्रकार, पोषक,मोटे अनाजों का उत्‍पादन 51.15 मिलियन टन अनुमानित है, जो वर्ष 2019-20 के उत्‍पादन की तुलना में 3.40 मिलियन टन अधिक है। इसके अलावा, यह औसत उत्‍पादन की तुलना में भी 7.14 मिलियन टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान कुल दलहन उत्‍पादन रिकॉर्ड 25.72 मिलियन टन अनुमानित है जो विगत पांच वर्षों के 21.99 मिलियन टन औसत उत्‍पादन की तुलना में 3.73 मिलियन टन अधिक है।

Documentary film

Himalayan women lifestyle Uttarakhand India | पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती

वर्ष 2020-21 के दौरान देश में कुल तिलहन उत्‍पादन रिकॉर्ड 36.10 मिलियन टन अनुमानित है, जो वर्ष 2019-20 के उत्‍पादन की तुलना में 2.88 मिलियन टन अधिक है। इसके अलावा, वर्ष 2020-21 के दौरान तिलहनों का उत्पादन 30.55 मिलियन टन, औसत तिलहन उत्‍पादन की तुलना में 5.56 मिलियन टन अधिक है।

वर्ष 2020-21 के दौरान देश में गन्‍ने का उत्‍पादन 399.25 मिलियन टन अनुमानित है, जो वर्ष 2019-20 के दौरान के औसत गन्‍ना उत्‍पादन 362.07 मिलियन टन की तुलना में 37.18 मिलियन टन अधिक है

कपास का उत्‍पादन 35.38 मिलियन गांठें (प्रति 170 किग्रा की गांठे) अनुमानित हैं जो औसत कपास उत्‍पादन की तुलना में 3.49 मिलियन गांठें अधिक है। पटसन एवं मेस्‍ता का उत्‍पादन 9.56 मिलियन गांठें (प्रति 180 किग्रा की गांठे) अनुमानित हैं।

विभिन्‍न फसलों के उत्‍पादन का मूल्‍यांकन राज्‍यों से प्राप्‍त आंकड़ों पर आधारित है|

Leave a Reply