देश में रिकॉर्ड 315.72 मिलियन टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान, जो 2020-21 की तुलना में 4.98 मिलियन टन अधिक

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने वर्ष 2021-22 के सम्बंध में प्रमुख फसलों के चौथे अग्रिम अनुमान जारी कर दिये। देश में रिकॉर्ड 315.72 मिलियन टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान है, जो 2020-21 के दौरान पैदा होने वाले खाद्यान्न की तुलना में 4.98 मिलियन टन अधिक है। चावल, मक्का, चना, दलहन, सफेद सरसों (रेपसीड) व काली सरसों, तिलहन और गन्ने का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान लगाया गया है। कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि रिकॉर्ड उत्पादन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम नेतृत्व में केंद्र सरकार की किसान-अनुकूल नीतियों और किसानों तथा वैज्ञानिकों के अथक परिश्रम का नतीजा है।

चौथे अग्रिम अनुमानों के अनुसार, वर्ष 2021-22 के दौरान प्रमुख फसलों का अनुमानित उत्पादन इस प्रकार हैः खाद्यान्न 315.72 मिलियन टन, चावल 130.29 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), गेहूं 106.84 मिलियन टन, पौष्टिक अनाज/मोटे अनाज 50.90 मिलियन टन, मक्का 33.62 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), दलहन 27.69 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), अरहर 4.34 मिलियन टन, चना 13.75 मिलियन टन (रिकॉर्ड), तिलहन 37.70 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), मूंगफली 10.11 मिलियन टन, सोयाबीन 12.99 मिलियन टन, सफेद और काली सरसों 11.75 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), गन्ना 431.81 मिलियन टन (रिकॉर्ड उत्पादन), कपास 31.20 मिलियन टन गांठें (प्रत्येक गांठ का वजन 170 किलोग्राम), जूट और मेस्ता 10.32 मिलियन टन गांठें (प्रत्येक गांठ का वजन 180 किलोग्राम)।

इन्हें भी पढ़ें

Hartalika Teej 2022-हरतालिका तीज शुभ मुहूर्त, पूजन विधि व व्रत कैसे करें

krishna janmashtami 2022- व्रत 18 अगस्त और श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव 19 अगस्त मना सकते हैं

दीपावली पूजन में 10 बातों का रखें ध्यान घर में होगी महालक्ष्मी की कृपा

कुंडली में सूर्य का प्रभाव बारह भावों में जानें

कार्तिक महीना क्यों खास है हिंदू धर्म में-जाने जरूरी जानकारी

वर्ष 2021-22 के दौरान चावल के कुल उत्पादन का अनुमान रिकॉर्ड 130.29 मिलियन टन लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 116.44 मिलियन टन से 13.85 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2021-22 के दौरान गेहूं का कुल उत्पादन 106.84 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 103.88 मिलियन टन से 2.96 मिलियन टन अधिक है।

पौष्टिक अनाज/मोटे अनाज का कुल उत्पादन 50.90 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 46.57 मिलियन टन से 4.32 मिलियन टन अधिक है। वर्ष 2021-22 के दौरान दलहन का रिकॉर्ड उत्पादन 27.69 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 23.82 मिलियन टन से 3.87 मिलियन टन अधिक है।

इन्हें भी पढ़ें

 moongphali khane ke fayde | Amazing benefits of peanuts

लौंग के फायदे in Hindi | 14 Benefits Of Cloves

झटपट 5 मिनट में दही चटनी रेसिपी

नारियल की पूजा क्यों की जाती

वर्ष 2021-22 के दौरान तिलहन का कुल उत्पादन रिकॉर्ड 37.70 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह पिछले पांच वर्षों के दौरान होने वाले औसत उत्पादन 35.95 मिलियन टन से 1.75 मिलियन टन अधिक है। इसके अलावा, वर्ष 2021-22 के दौरान तिलहन का उत्पादन औसत उत्पादन से 5.01 मिलियन टन अधिक है।

वर्ष 2021-22 के दौरान गन्ने का कुल उत्पादन रिकॉर्ड 431.81 मिलियन टन होने का अनुमान लगाया गया है। यह औसत उत्पादन 373.46 मिलियन टन से 58.35 मिलियन टन अधिक है। कपास 31.20 मिलियन टन गांठों (प्रत्येक गांठ का वजन 170 किलोग्राम), जूट और मेस्ता 10.32 मिलियन टन गांठों (प्रत्येक गांठ का वजन 180 किलोग्राम) के उत्पादन का अनुमान है।

विभिन्न फसलों के उत्पादन के मूल्यांकन का आधार राज्यों द्वारा प्राप्त आंकड़ें हैं। इसके साथ ही अन्य स्रोतों से प्राप्त सूचना के जरिये उनकी पुष्टि की जाती है। इस तरह दो आधारों पर मूल्यांकन किया जाता है। वर्ष 2021-22 के लिये चौथे अग्रिम अनुमानों के अनुसार विभिन्न फसलों के अनुमानित उत्पादन तथा वर्ष 2007-08 के कालखंड से तुलनात्मक अनुमानों का सम्पूर्ण ब्योरा संलग्न है।

Documentary film

पहाड़ी रीति रिवाज Documentary Film on Traditional Culture, गांव में दादाजी की बरसी, PART-1

उत्तराखंड में दिवाली कैसे मनाते हैं | Uttarakhand village Documentary PART-1