धनतेरस 2021 में क्या है खास, यहां जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और इससे जुड़ी प्रथा

धनतेरस 2021 में 2 नवंबर दिन मंगलवार को धनतेरस का त्योहार मनाया जाएगा। यह पर्व हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन से पांच दिवसीय दिवाली के त्योहार की शुरुआत हो जाती है। त्रयोदशी तिथि के दिन ही भगवान धन्वन्तरि का जन्म हुआ था इसलिए इस पर्व को धनतेरस कहा जाता है। इस दिन भगवान धन्वन्तरि के साथ माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है। भगवान धन्वन्तरि जब प्रकट हुए थे, तब उनके हाथों में अमृत से भरा कलश था इसलिए इस दिन बर्तन खरीदने की परंपरा चली आ रही है।

धनतेरस 2021 पर कौन से शुभ योग बने हैं

इस बार धनतेरस पर खास बात यह है कि इस दिन धन योग बन रहा इस योग के बनने से धनतेरस पर किया गया निवेश आने वाले समय में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। धनतेरस पर धन योग के बनने से किन लोगों को फायदा मिल सकता है और इस योग का निर्माण कैसे हो रहा है

इन्हें भी पढ़ें-

छठ पूजा में किन की पूजा होती और कैसे मनाते हैं

Deepawali 2021 | दिवाली में लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त

चम्बा उत्तराखंड का खुबसूरत पर्यटक स्थल में से एक है

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

धनतेरस 2021 पर त्रिपुष्कर योग का शुभ संयोग

धनतेरस के दिन त्रिपुष्कर योग बन रहा है। ज्योतिषशास्त्र में बताया गया है कि इस योग में जो भी कार्य करते हैं, उसका तिगुना फल प्राप्त होता है। इसलिए इस दिन कोई भी बुरा कार्य करने से बचना चाहिए। वहीं इस दिन यदि शुभ कार्य करते हैं तो उसका भी तीन गुना फल प्राप्त होगा। इसलिए इस • दिन आप धन का निवेश करके लाभ कमा सकते हैं। स्वर्ण और चांदी धातु में निवेश करना भी शुभ होगा।

धनतेरस 2021 पूजा मुहूर्त

धनतेरस 2021 पूजा मंगलवार, नवम्बर 2, 2021 पर धनतेरस पूजा मुहूर्त 06:16 पी एम से 08:11 पी एम त्रयोदशी तिथि प्रारम्भ नवम्बर 02, 2021 को 11:31 ए एम बजे

त्रयोदशी तिथि समाप्त नवम्बर 03, 2021 को 09:02 ए एम बजे

इन्हें भी पढ़ें-

शिवलिंग की महत्ता उनकी रचना और रूपों का निर्माण

Natural Protein Facial Peck for Dry Skin | नेचुरल फेस पेक

दिल को रखें फिट रखने के लिए अपने खाने की डाइट में इन्हें शामिल करें

धनतेरस 2021 पूजन विधि

धनतेरस पूजन विधि के धनतेरस की शाम के समय उत्तर दिशा में कुबेर, धन्वंतरि भगवान और मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है। पूजा के समय घी का दीपक जलाएं। कुबेर को सफेद मिठाई और भगवान धन्वंतरि को पीली मिठाई चढ़ाएं। पूजा करते समय “ॐ ह्रीं कुबेराय नमः” मंत्र का जाप करें। फिर धन्वंतरि स्तोत्र का पाठ करें। इसके बाद भगवान गणेश और माता लक्ष्मी की पूजा करें और मिट्टी का दीपक जलाएं। माता लक्ष्मी और भगवान गणेश को भोग लगाएं और फूल चढ़ाएं।

धनतेरस 2021 पर तीन ग्रहों की युति

धनतेरस 2021 के दिन एक अन्य शुभ संयोग 3 ग्रहों ने मिलकर बनाया है। सूर्य मंगल और बुध ग्रह धनतेरस के दिन तुला राशि में गोचर करेंगे। बुध और मंगल मिलकर एक धन योग का निर्माण करते हैं, वहीं सूर्य बुध की युति से बुधादित्य योग का निर्माण होगा। इस योग को राजयोग की श्रेणी में भी रखा गया है। वहीं यह योग तुला राशि में बन रहा है, जो व्यापार की कारक राशि मानी जाती है। मंगल बुध की युति को व्यापार के लिए बहुत शुभ माना जाता है। इसलिए कारोबारी इस दिन निवेश करके या नयी योजनाओं को लागू करके आने वाले समय में आर्थिक रूप से सशक्त बन सकते हैं।

धनतेरस 2021 पर भौम प्रदोष व्रत

धनतेरस 2021 पर भौम प्रदोष व्रत भी है, इस दिन भगवान शिव और हनुमानजी की पूजा आराधना करना भी बहुत शुभ माना जाता है। भौम प्रदोष व्रत के साथ धनतेरस के दिन 11 बजकर 31 मिनट के बाद चतुर्दशी तिथि है। माना जाता है कि चतुर्दशी तिथि को ही हनुमान जी का जन्म हुआ था, इसलिए धनतेरस पर इसे भी शुभ संयोग माना जा रहा है। हालांकि हनुमान जयंती 3 तारीख को मनाई जाएगी। क्योंकि 3 तारीख को 9 बजे के बाद से चतुर्दशी तिथि लग रही है। हालांकि सूर्योदय काल में चतुर्दशी तिथि नहीं होने के कारण इस बार चतुर्दशी तिथि का क्षय हो गया है।

धनतेरस 2021 पर बुध संक्रांति

धनतेरस के दिन बुध ग्रह का गोचर तुला राशि में होने वाला है, इसलिए इस दिन को बुध संक्रांति के रूप में भी जाना जा रहा है। बुध को ज्योतिष विज्ञान में व्यापार और बुद्धि का कारक ग्रह माना जाता है। वहीं तुला राशि व्यापार और कारोबार से संबंधित राशि मानी गई हैं। इसलिए धनतेरस के दिन बुध के गोचर को कारोबारियों के लिए बहुत शुभ माना जा रहा है।

धनतेरस 2021 पर हो सकता है नुकसान

धनतेरस पर बन रहे इन शुभ संयोगों में अगर निवेश करने  या नई योजनाएं बनाएंगे तो फायदा मिल सकता है। इसके साथ ही इस दिन दान पुण्य करने से भी सकारात्मक फल मिल सकते हैं। लेकिन गलती से भी आर्थिक मामलों में कोई गलत निर्णय न लें नहीं तो नुकसान भी हो सकता है।

Documentary film 

village life Uttarakhand India part 5

Documentary on how people of Uttarakhand live in village

धनतेरस 2021 पर झाडू की खरीदारी

धनतेरस 2021 के दिन सोना-चांदी खरीदने के अलावा झाडू खरीदना शुभ माना जाता है। कहते हैं कि इस दिन झाडू खरीदने से दरिद्रता का नाश होता है और सुख-समृद्धि आती है। इस दिन तेल का दीपक घर के दक्षिण दिशा में रखने से अकाल मृत्यु का भय नहीं रहता है।

आप सभी महानुभावों को धनतेरस महा पर्व की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

धार्मिक कार्य पूजा पाठ,अनुष्ठान, कुंडली मिलान हेतु के लिए आचार्य पंकज पुरोहित जी से व्हाट्सएप नंबर 9868426723 संपर्क करें

https://livecultureofindia.com/
आचार्य पंकज पुरोहित


Leave a Reply