भारत और वियतनाम के बीच द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास विनबैक्स 2022 चंडीमंदिर में संपन्न

भारत और वियतनाम के बीच द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास विनबैक्स 2022 का समापन चंडीमंदिर में आपदा राहत (एचएडीआर) में मल्टी एजेंसी ह्यूमैनिटेरियन असिस्टेंस के प्रभावशाली प्रदर्शन और मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत पहल को प्रदर्शित करने वाले साजोसामान के प्रदर्शन के साथ आयोजित हुआ। यह अभ्यास 01 अगस्त को शुरू हुआ था और संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान में सेना के इंजीनियर और चिकित्सा टीमों की तैनाती पर केंद्रित था। इस अभ्यास को खास एवं अनूठा बनाने वाली बात यह थी कि यह पहली बार था जब वियतनाम पीपुल्स आर्मी (वीपीए) किसी विदेशी सेना के साथ फील्ड प्रशिक्षण अभ्यास कर रही थी। यह बात दोनों देशों के आपसी संबंधों के महत्व पर प्रकाश डालती है।

तीन सप्ताह की अवधि में दोनों सेनाओं के सैनिकों ने एक-दूसरे से सीखने और सर्वश्रेष्ठ प्रथाओं को साझा करने के लिए एक-दूसरे के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम किया। वियतनाम ने पहली बार दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में एक दल तैनात किया है, जबकि भारत की संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों में योगदान देने की एक लंबी और समृद्ध परंपरा रही है। दोनों देशों की टुकड़ियों ने थ्योरी की कक्षाओं में भाग लिया और उसके बाद सीखी गई बातों के परीक्षण हेतु व्यावहारिक अभ्यास किया। ‘मेन इन ब्लू’ नामक अंतिम सत्यापन अभ्यास अनेक चुनौतियों वाले दूरस्थ अफ्रीकी स्थान में एक बेस बनाकर किया गया था ।

समापन समारोह में भारत में वियतनाम के राजदूत महामहिम फाम सान चाओ और वीपीए के एक उच्च स्तरीय पर्यवेक्षक प्रतिनिधिमंडल ने भाग लिया, जो विशेष रूप से इसीलिए वहां आए थे। भारत की ओर से पश्चिमी कमान में जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल नव कुमार खंडूरी ने उस कार्यक्रम की अध्यक्षता की जिसकी मेजबानी खरगा कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल प्रतीक शर्मा ने की। इस अवसर पर बोलते हुए गणमान्य लोगों ने वियतनाम और भारत के बीच घनिष्ठ संबंधों और हितों के महत्व पर जोर दिया।

विनबैक्स का अगला संस्करण 2023 में वियतनाम में आयोजित किया जाएगा।