नहीं रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह,

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का आज निधन हो गया, 89 साल साल की उम्र् में लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) हस्पताल में उन्होंने आखरी साँस ली उनकी हालत काफी दिनों से नाजुक बनी हुई थी क्रिटिकल केयर मेडिसिन (सीसीएम) के आईसीयू में भर्ती कल्याण सिंह वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे । उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही है। शनिवार को कल्याण सिंह की बिगड़ी सेहत की खबर पाकर मुख्यमंत्री योगी ने अपना गोरखपुर का दौरा रद्द करके पीजीआई हस्पताल पहुंचे। 24 घंटे के भीतर योगी आदित्यनाथ का कल्याण सिह का दो बार हालचाल जानने पीजीआई हस्पताल पहुंचे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह दो महीने से अस्वस्थ थे। उन्होंने आज रात सवा नौ बजे आखिरी सांस ली। कल्याण सिंह जी के निधन हम सभी दुखी है। मैं दिवंगत आत्मा के लिए शांति की कामना करता हूं। प्रदेश में तीन दिन का शोक रहेगा है 23 तारीख को नरौरा में गंगा तट पर कल्याण सिंह जी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। 23 अगस्त को प्रदेश के अंदर सार्वजनिक अवकाश घोषित रहेगा ताकि हर व्यक्ति उनको श्रद्धाजंलि दे सकें

प्रधानमंत्री सहित सभी नेताओं ने ट्वीट किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

कल्याण सिंह जी के निधन से मैं दुखी हूं। वे राजनेता, ज़मीनी स्तर के नेता और महान इंसान थे। उत्तर प्रदेश के विकास में उनका अमिट योगदान है। उनके पुत्र राजवीर सिंह से बात हुई और संवेदना व्यक्त की

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

कल्याण सिंह जी के निधन से मैंने अपना बड़ा भाई और साथी खोया है। उनके निधन से आई रिक्तता की भरपाई लगभग असम्भव है। ईश्वर उनके शोक संतप्त परिवार को दुःख की इस कठिन घड़ी में धैर्य और संबल प्रदान करे

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

हमारे वरिष्ठ नेता कल्याण सिंह जी के निधन का समाचार सुनकर अत्यंत व्यथित हूं। जनसंघ और भाजपा को उत्तर प्रदेश में खड़ा करने में कल्याण सिंह जी का सबसे महत्वपूर्ण योगदान रहा है

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला

कल्याण सिंह जी के निधन से आज हमने एक ऐसा विराट व्यक्तित्व खो दिया जिसने अपने राजनीतिक कौशल, प्रशासकीय अनुभव और विकासोन्मुखी दृष्टिकोण से राष्ट्रीय स्तर पर एक अमिट छाप छोड़ी। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें

गृह मंत्री अमित शाह

दुखी की बात है कि आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह हमारे बीच नहीं रहे। वे राम जन्मभूमि आंदोलन के नायक रहे। वे हमेशा दबे-कुचले और पिछड़ों की आवाज़ उठाते रहे हैं

Leave a Reply