मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मथुरा दौरा और प्रेस कॉन्फ्रेंस

आज 13 मई 2021 मथुरा में प्रेसवार्ता करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा इस महामारी के खिलाफ हमें सामूहिक रूप से लड़ना होगा।कोई भी ऐसी बात न कहें, जो हेल्थ वर्कर्स का मनोबल तोड़े एवं संक्रमण की चपेट में आ चुके लोगों को हतोत्साहित करे:
कोविड कार्य के लिए 32 एंबुलेंस मथुरा जनपद के लिए डेडिकेट की गई हैं, जिसके माध्यम से लोगों को अधिकतम सुविधा उपलब्ध करवाने में मदद मिलेगी,वर्तमान में कुल 11 नए ऑक्सीजन प्लांट यहां पर स्वीकृत किए गए हैं, जिनके माध्यम से आने वाले समय में किसी भी परिस्थिति का सामना करने में मथुरा जनपद सक्षम होगा

 https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/योगी-आदित्यनाथ/

मथुरा जिला प्रशासन से डेली टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाने के लिए कहा गया है जो पॉजिटिविटी रेट 20% थी, उसको निरंतर कम करते हुए 15% तक लाने में सफलता प्राप्त हुई है आज मैं भगवान श्रीकृष्ण जी की इस पावन भूमि पर आया हूं।मैंने यहां के जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया है।जनपद में एक्टिव केस कम हो रहे हैं।
पिछले एक सप्ताह में 600 के आस-पास एक्टिव केस कम हुए हैं मथुरा-वृंदावन में 18+ आयु वर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण प्रारंभ हो चुका है। हम लोगों ने प्रदेश में अब तक 2.65 लाख से अधिक यूथ का टीकाकरण किया है।
मथुरा-वृंदावन में भी 06 हजार से अधिक युवाओं का टीकाकरण हो चुका है: मेरी आप सब लोगों से अपील होगी कि लोगों को जागरूक करें कि बीमारी को छिपाने के बजाय तत्काल टेस्ट करवा कर उसका उपचार शुरू करें कोविड-19 एक महामारी है, इसे सामान्य फ्लू मानने की भूल नहीं करनी चाहिए।

कृपया इन्हें भी पढ़ें और वीडियो भी देखें

गठिया,साइटिका,घरेलू उपचार

कपड़े से बना मास्क MASK कितना बेहतर

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

world oldest religious Temple 

उत्तराखण्ड के पहाड़ी गांव का रहन सहन

सिंपल वेज बिरयानी रेसिपी 

चेहरे से मुंहासे हटाए

Documentary Film  बाबा तुंग नाथ यात्रा

बीमारी में बचाव सर्वोत्तम उपाय है लेकिन अगर बीमारी हो जाती है, तो इसे छिपाने की नहीं बल्कि तत्काल उसके उपचार की आवश्यकता है:
वर्तमान में प्रदेश में हम लोगों ने बेड्स की क्षमता बढ़ाई है।हमारे पास L-1 के 1.60 लाख बेड्स मौजूद हैं।
L-2 एंड L-3 के 80 हजार बेड्स मौजूद हैं। प्रदेश में हर कोरोना पॉजिटिव मरीज को चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है,फर्स्ट वेव के समय संक्रमण इतना तीव्र नहीं था।जो L1, L2, L3 हॉस्पिटल बनाए गए थे, उसमें L1 हॉस्पिटल में ही अधिकतर लोग ठीक हो गए थे।

ऑक्सीजन की आवश्यकता इतनी ज्यादा नहीं थी। लेकिन दूसरी लहर में तेजी से ऑक्सीजन की मांग उठी:कोविड-19 के खिलाफ देश की जो लड़ाई चल रही है, उसे आदरणीय प्रधानमंत्री श्री जी के मार्गदर्शन एवं प्रेरणा से उत्तर प्रदेश में भी प्रभावी ढंग से आगे बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है|

 

Leave a Reply