राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा-ढाका का ऐतिहासिक रमना काली मंदिर भारत और बांग्लादेश के लोगों के बीच आध्यात्मिक व सांस्कृतिक बंधन का एक प्रतीक है

बांग्लादेश यात्रा के अंतिम दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ढाका में भारतीय समुदाय और भारत के मित्रों के स्वागत समारोह में शामिल हुए। यहाँ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने कहा ढाका में नवीनीकृत ऐतिहासिक रमना काली मंदिर का उद्घाटन करने का सौभाग्य मिला है।

 https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/राष्ट्रपति-कोविन्द-ने-कह/ ‎

उन्होंने इस बात का उल्लेख किया कि बांग्लादेश और भारत की सरकार व लोगों ने उस मंदिर के फिर से निर्माण करने में सहायता की, जिसे मुक्ति संग्राम के दौरान पाकिस्तानी सेना ने ध्वस्त कर दिया था। हमलावर बलों ने बड़ी संख्या में लोगों की हत्या की थी। उन्होंने आगे कहा कि यह मंदिर भारत और बांग्लादेश के लोगों के बीच आध्यात्मिक व सांस्कृतिक बंधन का एक प्रतीक है।

राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के प्रगतिशील, समावेशी, लोकतांत्रिक और समरसतापूर्ण समाज के बांग्लादेश के मूलभूत मूल्यों को बनाए रखना प्रमुख योगदानों में से एक रहा राष्ट्रपति कोविन्द ने आश्वासन दिया कि भारत उस बांग्लादेश के समर्थन में खड़ा रहेगा, जो इस देश के मुक्ति आंदोलन से उत्पन्न मूल्यों का प्रतीक है।

राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा विश्व के सभी हिस्सों में भारतीय नागरिकों की सुरक्षा, कल्याण और बेहतरी, हमारी सरकार की एक प्राथमिकता है।पिछले डेढ़ वर्षों के दौरान विश्व के हर हिस्से मेंसरकार ने हमारे नागरिकों को कोविड-19 महामारी के सबसे बुरे दौर में घर लौटने में सक्षम बनाने के विशेष प्रयास किए हैं।

इन्हें भी पढ़ें-

Chopta Tungnath is one of the beautiful place of Uttarakhand

कन्यादान न किया हो तो तुलसी विवाह करके ये पुण्य अर्जित करें,

कोटेश्वर महादेव गुफा रुद्रप्रयाग,Koteshwar Mahadev Cave

Skincare advantage of tea tree oil, टी ट्री ऑयल त्वचा की देखभाल करें

राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा सरकार विदेशों में हमारे नागरिकों सहित प्रवासी भारतीयों के साथ हमारे संबंधों को मजबूत करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाना जारी रखेगी।उन्हें यह जानकर प्रसन्नता हुई कि ढाका स्थित भारतीय उच्च आयोग हमारे ‘वंदे भारत मिशन’ और संकट में फंसे भारतीय नागरिकों के लिए अन्य कल्याणकारी गतिविधियों में अग्रिम मोर्चे पर तैनात था।

Documentary film .

Nature Safari Park Rajgir | Glass bridge ticket | राजगीर का नेचर सफारी पार्क

Himalayan women lifestyle Uttarakhand India,पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती