राष्ट्रीय हथकरघा दिवस पर प्रधानमंत्री ने हथकरघा उत्पादों को समर्थन देने का किया आह्वान,

देश में राष्ट्रीय हथकरघा दिवस (National Handloom Day History) 7 अगस्त को मनाया जाता है, इसके पीछे विशेष महत्‍व है। इसी दिन 1905 में स्‍वदेशी आंदोलन शुरू हुआ था और इसी दिन कोलकाता के टाउनहॉल में एक महा जनसभा में स्वदेशी आंदोलन की औपचारिक रूप से शुरुआत की गई थी।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय हथकरघा दिवस (National Handloom Day History)  के अवसर पर कहा है कि हथकरघा में भारत की विविधता तथा असंख्य बुनकरों और दस्तकारों की दक्षता नजर आती है। उन्होंने आह्वान किया कि स्थानीय हथकरघा उत्पादों को समर्थन दिया जाये।

प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय स्तर पर किए गए आह्वान पर – राष्ट्रीय हथकरघा विकास निगम (एनएचडीसी) द्वारा 7वां राष्ट्रीय हथकरघा दिवस मनाने के लिए दिल्ली हाट, आईएनए, नई दिल्ली में 1 अगस्त से 15 अगस्त, 2021 तक “माई हैंडलूम माई प्राइड एक्सपो” का आयोजन किया जा रहा है।

इसमें हथकरघा उत्पादक कंपनियां और बुनकर बिक्री के लिए देश भर के हथकरघा क्लस्टर/ पॉकेट से हथकरघा उत्पादों का प्रदर्शन कर रहे हैं। एक्सपो में 22 राज्यों से संबंधित 125 से ज्यादा हथकरघा एजेंसियां/ राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता भाग ले रहे हैं। यह प्रदर्शनी 15 अगस्त, 2021 तक 15 दिन के लिए पूर्वाह्न 11 बजे से रात 8 बजे तक जनता के लिए खुली रहेगी और प्रदर्शनी में 10,000 से ज्यादा लोगों के आने का अनुमान है।

प्रदर्शनी में भारत के कुछ अनूठे क्षेत्रों से लाए गए हथकरघा उत्पादों को प्रदर्शन और बिक्री के लिए रखा गया है। हथकरघा निर्यात संवर्धन परिषद द्वारा होटल लीला पैलेस के पास कम्युनिटी हॉल, न्यू मोती बाग में 7 से 11 अगस्त, 2021 तक MyHandloomMyPride एक्सपो का आयोजन भी किया गया है।

एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा है

“हथकरघा में भारत की विविधता तथा असंख्य बुनकरों और दस्तकारों की दक्षता नजर आती है। राष्ट्रीय हथकरघा दिवस My Handloom My Pride  की भावना को बल देकर हमारे बुनकरों को समर्थन देने की प्रतिबद्धता दोहराने का दिन है। आइये, हम सभी स्थानीय हथकरघा उत्पादों का समर्थन करें!”

इन्हें भी पढ़ें-

सावन को सबसे पवित्र महीना क्यों कहा गया जानिए

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

लौंग के फायदे | 14 Benefits Of Cloves

ओलम्पिक पदक विजेता साइखोम मीराबाई चानू के एक ट्वीट का उद्धरण देते हुये प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहाः“पिछले कुछ वर्षों के दौरान हैंडलूम में नई दिलचस्पी देखी जा रही है।मीराबाई चानूको#MyHandloomMyPride का समर्थन करता देख खुशी हो रही है। मुझे पूरा विश्वास है कि हथकरघा क्षेत्र आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में योगदान देता रहेगा।”

Documentary film

Village Life in Uttarakhand India part 3