रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध में यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र बेंगलुरु पहुंचे एयरपोर्ट।

रूस और यूक्रेन (Russia and Ukraine०) के बीच चल रहे युद्ध में यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र आज सुबह लगभग 9:40 पर बेंगलुरु एयरपोर्ट पहुंचे। भारत वापस आईं एक छात्रा ने बताया, वापस आकर बहुत अच्छा लग रहा है, यूक्रेन में काफी डरावना माहौल है। हमने काफी मुश्किलों का सामना किया। रोमानिया और यूक्रेन में भारतीय दूतावासों ने शानदार काम किया, वे सक्रिय हैं। हम प्रधानमंत्री समेत पूरी भारत सरकार का बुहत धन्यवाद करते हैं।

हमने कई बच्चों से बात की, वीरता व साहस से उन्होंने अपनी ज़िम्मेदारी निभाई है हमने इसकी सराहना की। उनसे अनुरोध किया कि अपने सहभागियों-मित्रों से ज़रूर कहें कि सरकार का ये अभियान तब तक जारी रहेगा जबतक की सभी नागरिकों को सुरक्षित भारत ना ले आएं: केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26 फरवरी 2022 को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलडोमेर जेलेंस्‍की के साथ बात की। राष्ट्रपति जेलेंस्की ने प्रधानमंत्री को यूक्रेन में जारी संघर्ष की स्थिति के बारे में विस्तार से जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने जारी संघर्ष के कारण लोगों की मौत और सम्पत्ति के नुकसान पर गहरा दु:ख व्यक्त किया। उन्होंने हिंसा की तत्काल समाप्ति और संवाद को फिर से शुरू करने के अपने आह्वान को दोहराया तथा शांति प्रयासों में किसी भी तरह का योगदान देने की भारत की इच्छा व्यक्त की।

इन्हें भी पढ़ें-

त्रिजुगी नारायण मंदिर, world oldest religious Temple

कन्यादान न किया हो तो तुलसी विवाह करके ये पुण्य अर्जित करें,

सूर्य भगवान की पूजा | benefits of surya pooja

Documentary film .

 उत्तराखंड पहाड़ों में कैसे रहते हैं भाग 6 ,चोलाई की खेती कैसे करते हैं

प्रधानमंत्री ने यूक्रेन में मौजूद छात्रों सहित भारतीय नागरिकों की सुरक्षा और संरक्षा के प्रति भारत की गहरी चिंता से भी अवगत कराया। उन्होंने भारतीय नागरिकों को तेजी से और सुरक्षित रूप से निकालने के लिए यूक्रेनी अधिकारियों द्वारा सुविधा देने की मांग की।