लैंटेना/कुरी घास हटेगी उत्तराखंड से मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने वन विभाग को दिए निर्देश

अब उत्तराखंड से लैंटेना/कुरी घास हटेगी , मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने वन विभाग को निर्देश दिए कि लैंटेना/कुरी जैसी प्रजाति को वन क्षेत्र से हटाते हुए स्थानीय प्रजाति के घास/ बांस तथा फलदार पौधों का मिशन मोड़ में रोपण कर जंगलों की गुणवत्ता बढ़ाई जाए तथा वन्यजीवों की आवश्यकतानुसार वासस्थल विकसित किये जाये।

प्रमुख वन संरक्षक (हॉफ) उत्तराखंड राजीव भरतरी ने इस संबंध में सभी डीएफओ को निर्देश पत्र जारी किया है। प्रमुख वन संरक्षक ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि लैंटाना / कुरी के वन क्षेत्रों के हज़ारों एकड़ क्षेत्रफल में फैलाव से स्थानीय घास प्रजातियाँ प्रभावित हुई हैं।

https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/लैंटेना-कुरी-घास-हटेगी/

इन क्षेत्रों से उक्त प्रजाति हटाने संबंधित कार्य योजना तैयार कर घास नर्सरी बनाई जाए। इसके लिए कैंम्पा परियोजना से 38 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की गई है

न्हें भी पड़ेंकैबिनेट की मंजूरी, किरायेदार-मकान मालिक को मिलेंगे कई अधिकार,Model Tenancy Act

लैंटेना/ कुरी घास को हटाने से काफी लोगों को रोज़गार भी मिलेगा और साथ-साथ बनों की गुणवत्ता में भी सुधार होगा।

लैंटेना/कुरी घास क्या है

आप को बतादें लगभग सौ साल से अधिक समय पहले ब्रिटिश काल में पर्यटन नगरी में शोभादार फूल के रूप में लैंटाना घास लगाई गई थी,

धीरे-धीरे यह घास पूरे क्षेत्र में फैलती गई। बाद में इसके परिणाम विषाक्त और पर्यावरण के लिए बहुत हानिकार बताया गया था, साथ ही लैंटेना/कुरी को कई बीमारियों की जड़ भी माना गया है।

इन्हें भी पड़ेंउत्तर प्रदेश में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को स्मार्ट फोन देगी योगी सरकार

लैंटाना घास खेत की जैव विविधता को खत्म कर देता है। जमीन के जिस हिस्से पर ये एक बार फैल जाता है वहां कोई दूसरा पौधा नहीं उगाया जा सकता है

लैंटेना/कुरी जिसको ब्रिटिश काल में शोभादार फूल समझकर यहां लाए थे आज वह कांटे बन चुके हैं

जानवर लैंटेना/कुरी  घास को खाकर कई बीमारियों से जूझ रहे हैं। इस घास से शरीर में खुजली के अलावा कई रोग पैदा होते हैं।लैंटाना की झाड़ियां जंगली जानवरों के छिपने की पसंदीदा जगह भी बन गई है।

लैंटेना/कुरी की झाड़ियों में गुलदार और अन्य जानवर के छुपने से ये जानवर लोगों पर हमला करते हैं। लैंटाना घास अपने आस-पास किसी भी तरह की उपज को पनपने से रोकती है।

वीडियो देखें

traditional culture documentary film