हमारे बीच नहीं रहें पूर्व राज्यसभा सांसद एवं वरिष्ठ पत्रकार चंदन मित्रा,राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित पूरे देश ने जताया दुख

वरिष्ठ पत्रकार चंदन मित्रा का बुधवार देर रात दिल्ली में निधन हो गया.वो कुछ समय से बीमार चल रहे थे चंदन मित्रा पायनियर के संपादक भी रह चुके थे वो बीजेपी के कोटे से राज्यसभा पहुंचे थे सन 2018 में बीजेपी छोड़कर वो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे, चंदन मित्रा को लालकृष्ण आडवाणी का काफी करीबी माना जाता था. वरिष्ठ पत्रकार चंदन मित्रा के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गज नेताओं ने दुख जताया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

चंदन मित्रा एक उत्कृष्ट पत्रकार थे और एक सांसद के रूप में उनके कार्यकाल ने उनकी प्रतिष्ठा में इजाफा किया। उनके निधन से भारतीय पत्रकारिता में एक खालीपन आ गया है। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना

PM मोदी ने सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दी
मित्रा के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक प्रकट किया है. एक ट्वीट में पीएम ने कहा- ‘श्री चंदन मित्रा जी को उनकी बुद्धि और अंतर्दृष्टि के लिए याद रखा जाएगा. उन्होंने पत्रकारिता के साथ राजनीति की दुनिया में भी अपनी पहचान बनाई. मैं उनके निधन से आहत हूं. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं .ॐ शांति.’