यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वृंदावन में हुनर हाट का किया उद्घाटन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने 10 नवंबर को वृंदावन में हुनर हाट के 31वें संस्करण, कौशल कुबेर का कुंभ और ब्रज राज उत्सव का उद्घाटन किया और कहा कि “हुनर हाट” के कारीगर और शिल्पकार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के “आत्मनिर्भर भारत” के दृष्टिकोण को मजबूत कर रहे हैं।

उद्घाटन के बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने ब्रज राज उत्सव के साथ-साथ देश की प्रतिभा को भी एक मंच प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि प्रतिभा किसी जाति, पंथ या धर्म तक ही सीमित नहीं है। कोरोना काल में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने हमें कुछ “मंत्र” दिए थे। श्री मोदी ने हर जरूरतमंद के जीवन और उसकी आजीविका को बचाने के संकल्प के साथ काम किया और “आत्मनिर्भर भारत” का नारा दिया।

इन्हें भी पढ़ें-

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती-himalayan women lifestyle

सर्दियों में ड्राई स्किन से बचें -10 Tips prevent dry skin

नोनी फल का जूस पीने के 9 फायदे – 9 Benefits of Noni Juice

घर पर बनाएं पाव भाजी रेसिपी- Pav Bhaji recipe

मुख्यमंत्री ने कहा कि “हुनर हाट” के कारीगर और शिल्पकार “आत्मनिर्भर भारत” के दृष्टिकोण को मजबूत कर रहे हैं। हमारा भारत हस्तशिल्प और शिल्प कौशल के मामले में समृद्ध है। भारत का हस्तशिल्प और शिल्प कौशल सदियों पुराना है। “हुनर हाट” के कारीगरों और शिल्पकारों ने इस कला और शिल्प को पीढ़ी दर पीढ़ी लोगों के सामने प्रस्तुत किया है। इस कला और शिल्प का सम्मान किया जाना चाहिए, इस कला को और अधिक समावेशी बनाया जाना चाहिए।

श्री योगी आदित्यनाथ ने “हुनर हाट” में “विश्वकर्मा वाटिका” का दौरा किया। उन्होंने महान स्वतंत्रता सेनानी राजा महेंद्र प्रताप सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और “मेरा गांव मेरा देश” में “खटिया” पर बैठकर विविध किस्म के पारंपरिक भोजन भी ग्रहण किए।

इस अवसर पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी, सांसद श्रीमती हेमा मालिनी, उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री श्रीकांत शर्मा, उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, यूपी ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष श्री शैलजा कांत मिश्र, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की सचिव श्रीमती रेणुका कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर बोलते हुए श्रीमती हेमा मालिनी ने कहा कि “हुनर हाट” में देश के हर हिस्से के कारीगर और शिल्पकार मौजूद हैं। इससे पारंपरिक सांस्कृतिक कार्यक्रमों को बढ़ावा भी मिल रहा है।

इन्हें भी पढ़ें-

छठ पूजा में किन की पूजा होती और कैसे मनाते हैं

कार्तिक महीना क्यों खास है हिंदू धर्म में-जाने जरूरी जानकारी

त्रिजुगी नारायण मंदिर- world oldest religious Temple-Kedarnath

मथुरा के वृंदावन के कुंभ मेला ग्राउंड में 10 नवंबर से लेकर 19 नवंबर तक चलने वाले “हुनर हाट” में “विश्वकर्मा वाटिका” के अलावा “सर्कस” का भी प्रदर्शन किया जाएगा, जिसमें भारतीय सर्कस कलाकार विविध किस्म के शानदार पारंपरिक मनोरंजक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

“ब्रज राज उत्सव” के क्रम में ‘हुनर हाट’ में लगभग 400 कारीगर, शिल्पकार और पाक-कला विशेषज्ञ भाग ले रहे हैं। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, नागालैंड, मध्य प्रदेश, मणिपुर, बिहार, आंध्र प्रदेश, झारखंड, गोवा, पंजाब, उत्तराखंड, लद्दाख, कर्नाटक, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु और केरल सहित 30 से अधिक राज्यों एवं केंद्र – शासित प्रदेशों के कारीगर और शिल्पकार लकड़ी, पीतल, बांस, कांच, कपड़ा, कागज, मिट्टी आदि से बने अपने स्वदेशी उत्पाद लेकर आए हैं। देश के विभिन्न हिस्सों से जुड़े पारंपरिक शाकाहारी भोजन भी “हुनर हाट” में उपलब्ध हैं।

अन्नू कपूर, कैलाश खेर, सुरेश वाडेकर, पुनीत इस्सर (महाभारत से जुड़े कार्यक्रम प्रस्तुत करने के लिए), सदानंद विश्वास, अनूप जलोटा, प्रसिद्ध भजन गायक उस्मान मीर, प्रसिद्ध गायिका रानी इंद्राणी और अन्य प्रसिद्ध कलाकार हर दिन शाम को वृंदावन के “हुनर हाट” में विभिन्न सांस्कृतिक और संगीत के कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

पिछले लगभग छह वर्षों के दौरान “हुनर हाट” के माध्यम से छह लाख से अधिक कारीगरों, शिल्पकारों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर प्रदान किए गए हैं। “हुनर हाट” वर्चुअल एवं ऑनलाइन प्लेटफॉर्म http://hunarhaat.org और GeM पोर्टल पर भी उपलब्ध है। देश-विदेश के लोग “हुनर हाट” के उत्पादों को डिजिटल और ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं।

Documentary film 

Village Life Celebration Documentary PART-1- how to celebration Diwali in Uttarakhand village

अगला “हुनर हाट” लखनऊ (12 नवंबर से लेकर 21 नवंबर तक), प्रगति मैदान, नई दिल्ली (14 नवंबर से लेकर 27 नवंबर तक), हैदराबाद (26 नवंबर से लेकर 5 दिसंबर तक), सूरत (10 दिसंबर से लेकर 19 दिसंबर तक), नई दिल्ली (22 दिसंबर 2021 से लेकर 2 जनवरी 2022 तक) में आयोजित किया जाएगा। “हुनर हाट” का आयोजन आने वाले दिनों में मैसूरू, गुवाहाटी, पुणे, अहमदाबाद, भोपाल, पटना, पुडुचेरी, मुंबई, जम्मू, चेन्नई, चंडीगढ़, आगरा, प्रयागराज, गोवा, जयपुर, बंगलुरु, कोटा, सिक्किम, श्रीनगर, लेह, शिलांग, रांची, अगरतला तथा अन्य जगहों में भी किया जाएगा।

 

Leave a Reply