शहरों में हर एक व्यक्ति के लिए 10 से 12 वर्गमीटर खुली जगह की URDPFI दिशानिर्देश- 2014 में की गई सिफारिश

शहरी क्षेत्रीय विकास योजना निर्माण और कार्यान्वयन (यूआरडीपीएफआई) ( URDPFI) दिशानिर्देश- 2014 में हर एक व्यक्ति के लिए 10 से 12 वर्ग मीटर खुली जगह की सिफारिश की गई है। इसके तहत राज्य,केंद्र शासित प्रदेश शहरी विकास प्राधिकरणों-शहरी स्थानीय निकायों से मौजूदा स्थानीय परिस्थिति, जो अलग-अलग शहरों में भिन्न हो सकती हैं, के अनुरूप यूआरडीपीएफआई दिशानिर्देशों को अपनाने की अपेक्षा की जाती है। शहर, इसके लिए मास्टर प्लान तैयार या संशोधित करते समय यूआरडीपीएफआई ( URDPFI) दिशानिर्देशों के आधार पर मानदंड निर्धारित कर सकते हैं।

आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय ने शहरी हरित दिशानिर्देश- 2014 को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अपनाने के लिए आगे बढ़ाया है। इसके अलावा मंत्रालय नागरिकों के लिए सुलभ और सुरक्षित स्थान में सुधार के लिए अपनी विभिन्न योजनाओं के जरिए राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों के प्रयासों का समर्थन करता है। अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन (अमृत) के तहत ‘हरित स्थानों और पार्कों’ का विकास एक अपनाने योग्य घटक है। अब तक लगभग 4,061 एकड़ में 2,058 पार्क-हरित क्षेत्र विकसित किए जा चुके हैं।

इन्हें भी पढ़ें-

Beautiful Place Badani Tal Uttarakhand | बधाणीताल

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

Winter Gaddiasthan of Makku Math Baba Tungnath ji

फेसियल करने का सही तरीका-The right way to do facial

इसके अलावा 1 अक्टूबर, 2021 को अमृत 2.0 को शुरू किया गया। इसके तहत जल संवर्द्धन के लिए जल निकायों का नवीकरण और हरित स्थानों की सुविधाओं में बढ़ोतरी और विकास अपनाने योग्य घटक हैं। इनके लिए कुल परियोजना आवंटन में से धनराशि (जल निकायों के नवीकरण के लिए 4 फीसदी और हरित स्थानों व पार्कों के विकास के लिए 1 फीसदी) निर्धारित की गई है।

यह जानकारी आवासन और शहरी कार्य राज्य मंत्री श्री कौशल किशोर ने 4 अप्रैल 2022 को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दी।

इन्हें भी पढ़ें-

Beautiful Place Badani Tal Uttarakhand | बधाणीताल

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

Winter Gaddiasthan of Makku Math Baba Tungnath ji

फेसियल करने का सही तरीका-The right way to do facial

Documentary film

Nirankar Dev Pooja in luintha pauri garhwal Uttarakhand