श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2022 जानें पंडित जी से मुहूर्त और शुभ योग

श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2022, जन्माष्टमी का पर्व हर साल देशभर में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. इस दिन भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था. इस दिन मंदिरों में झाकियां सजाई जाती हैं. साथ ही घर और मंदिरों में लड्डू गोपाल को झूला झुलाया जाता है. भगवान विष्णु ने द्वापर युग में कंस के बढ़ रहे अत्याचारों को खत्म करने और धर्म की स्थापना के लिए कृष्ण के रूप में अपना आठवां अवतार लिया था। भादपद्र माह के कृष्ण पक्ष की रोहिणी नक्षत्र में भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था। इसलिए प्रत्येक वर्ष इस माह में कृष्ण पक्ष के अष्टमी के दिन कृष्ण जन्माष्टमी मनाया जाता है। कृष्ण जन्माष्टमी के दिन व्रत रखने और पूजा करने करने का विधान है। वहीं इस दिन पूजा के दौरान भगवान श्री कृष्ण की प्रिय वस्तुएं चढ़ाने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

इन्हें भी पढ़ें-

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती-himalayan women lifestyle

सर्दियों में ड्राई स्किन से बचें -10 Tips prevent dry skin

नोनी फल का जूस पीने के 9 फायदे – 9 Benefits of Noni Juice

घर पर बनाएं पाव भाजी रेसिपी- Pav Bhaji recipe

कार्तिक महीना क्यों खास है हिंदू धर्म में-जाने जरूरी जानकारी

त्रिजुगी नारायण मंदिर- world oldest religious Temple-Kedarnath

श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2022 पर बन रहे हैं शुभ योग

हिंदू पंचाग के अनुसार जन्माष्टमी का दिन बेहद खास है. इस बार जन्माष्टमी पर वृद्धि योग लग रहा है. वहीं, इस दिन अभिजीत मुहूर्त भी रहेगा. बता दें कि इस दिन अभिजीत मुहू्र्त दोपहर 12 बजकर 5 मिनट से लेकर 12 बजकर 56 मिनट तक होगा. इसके साथ ही इस दिन ध्रुव योग भी होगा जो कि 18 अगस्त को 8 बजकर 41 मिनट से शुरू होकर 19 अगस्त रात 8 बजकर 59 मिनट तक रहेगा. वृद्धि योग इस दिन 17 अगस्त दोपहर 8 बजकर 56 मिनट से शुरू होगा और 18 अगस्त 8 बजकर 41 मिनट तक रहेगा. ऐसी मान्यता है कि जन्माष्टमी पर वृद्धि योग में पूजा करने से घर में सुख-संपत्ति में वृद्धि होती है. और मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है.

श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर घर ले आएं ये चीजें

बांसुरी
बांसुरी श्री कृष्ण को सबसे प्रिय है। ऐसे में यदि आप जन्माष्टमी के दिन बांसुरी लाकर भगवान कृष्ण को चढ़ाते हैं तो घर में मधुरता फैलेगी। साथ ही आपके घर में कभी भी पारिवारिक कलह नहीं होगा और दिन रात परिवार के लोगों की तरक्की होगी।

शहद
वास्तु के अनुसार, सभी देवताओं को शहद का भोग लगाना शुभ माना जाता है। साथ ही घर का वास्तु दोष दूर होता है। ऐसे में जन्माष्टमी के दिन शहद खरीद कर लाएं और कान्हा को इसका भोग जरूर लगाएं।
वीणा
ज्योतिष के अनुसार, कृष्ण जन्माष्टमी के दिन अपने घर पर वीणा खरीदकर लाएं और पूजा घर में रखें। मान्यता है कि ऐसा करने से मां सरस्वती की कृपा प्राप्त होगी।
बाल गोपाल की तस्वीर
मान्यता के अनुसार कृष्ण जन्माष्टमी के दिन यदि आप भगवान श्री कृष्ण के बाल अवस्था की फोटो लाकर पूजा घर में रखेंगे और उसकी नियमित रूप से पूजा करेंगे तो आपके वैवाहिक जीवन में कभी विवाद उत्पन्न नहीं होगा। साथ ही पति-पत्नी के बिच प्रेम बढ़ेगा।
मोरपंख
इस बार जन्माष्टमी पर मोर के पंख का मुकूट घर ले लाएं और इसे भगवान कृष्ण को अर्पित करें। मान्यता है कि मोर का पंख लाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है। साथ ही घर का वास्तु दोष समाप्त हो जाता है।

पंडित वासुदेव गैरोला
mobile number 9310031455

 

Documentary film

Himalayan women lifestyle Uttarakhand India

village life Uttarakhand India part 5

निरंकार देव पूजा पौड़ी गढ़वाल उत्तराखंड, Nirankar Dev Pooja in luintha