सचिन पायलट का उत्तराखंड दौरा. महंगाई को लेकर सरकार को घेरा

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राजस्थान सरकार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट शुक्रवार को देहरादून पहुंचे हैं।जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह व कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया।

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में उत्तराखंड के लोकपर्व हरेला के अवसर पर सचिन पायलट को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने रुद्राक्ष का पौधा” भेंट किया, सचिन पायलट ने उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय देहरादून में प्रेस वार्ता को संबोधित किया।

https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/सचिन-पायलट-का-उत्तराखंड/

सचिन पायलट ने उत्तराखंड सरकार को महंगाई के मुद्दे पर घेरा।कहा भाजपा की अनीति से निरंकुश हुई महंगाई, कांग्रेस पार्टी महंगाई के खिलाफ आमजनता की आवाज पूरी मजबूती से उठाते रहेंगे।आज पूरे देश में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से आम आदमी त्रस्त है।राज्य की जनता बढ़ती महंगाई से परेशान है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम करना केंद्र सरकार के हाथ में है। इसके लिए कांग्रेस पार्टी पूरे देश में महंगाई के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रही है।

इन्हें भी पढ़ें-

सावन को सबसे पवित्र महीना क्यों कहा गया जानिए

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

एलोवेरा जेल का चेहरे और बालों पर उपयोग

सिंपल वेज बिरयानी रेसिपी | Easy Veg Biryani Recipe

उत्तराखंड गांव की सांस्कृतिक परंपरा चक्रव्यूह

पितर कौन होते हैं और तर्पण किन को दिया जाता जाने

सचिन पायलट ने प्रेस कन्फ्रेन्स में किसानों का मुद्दा भी उठाया और कहा सरकार को किसान बिल को वापस लेना चाहिए हम किसनों की मांग उठाते रहेंगे, देश के आर्थिक मुद्दों पर केंद्र सरकार की विफल नीतियों व कुशासन के कारण निरंकुश हुई,

राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के आह्वान पर देश भर के तमाम प्रांतों में कांग्रेस ने प्रदेश में हर जनपद में, हर ब्लॉक में और हर विधानसभा में महंगाई के खिलाफ पिछले 10 दिनों से आंदोलन चलाया है। जगह-जगह साइकिल यात्राएं निकाली गईं।

एनडीए शासनकाल में आज देश भर में पेट्रोल 100 रुपए और डीजल 90 रुपए पहुंच गया है। जबकि सात वर्षों में कच्चे तेल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में न्यूनतम 28 डॉलर प्रति बैरल और अधिकतम 78 डॉलर प्रति बैरल यानी 50 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर नहीं गई।

Documentary film

how to celebration Diwali in Uttarakhand village

World’s Highest lord Shiva temple Uttarakhand

Leave a Reply