हरीश रावत भी उतरे मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की तारीफ में, जानिए असली वजह है|

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने Twitter पर ‘मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना’की सराहना की है| ट्विटर पर लिखा है ये सरकार का अच्छा निर्णय है, हालांकि उन्होंने इस योजना का नाम नही लिया,

लिखा कोरोनाकाल में जिन बच्चों ने अपने बाप परीक्षा को खो दिया है और जिस घर ने अपने कमाने वाला सदस्य खो दिया है, उनकी मदद के लिये राज्य सरकार के हाथ आगे बढ़ें और इस कोरोना महामारी के दौरान अनाथ हुये बच्चों को 5 प्रतिशत क्षैतिजीय आरक्षण की जो बात कही गई है मैं उसका स्वागत करता हूँ

https://livecultureofindia.com/village-life-blog/हरीश-रावत-भी-उतरे/ उत्तराखंड सरकार को यह सुझाव देना चाहूंगा कि किसी भी दुर्घटना में यदि किसी परिवार का कमाने वाला सदस्य अकाल कालकल्वित होता है, तो ऐसे परिवार के बच्चों को आरक्षण देना और आर्थिक मदद देना, एक अच्छा कदम है और मैं कांग्रेस से भी आग्रह करूंगा कि इस कदम को भविष्य के लिये वो अपने वादे के तौर पर याद रखेंगे।
लिखा लेकिन तीरथ सिंह जी ने यह अच्छा कदम उठाया है। लगता है, उनके प्रधान सलाहकार का अनुभव उनके काम आने लग गया है।

हरीश रावत ने बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के बारे में लिखा बोर्ड की 12वीं की परीक्षा  होगी, यह निर्णय समझ में नहीं आ रहा है।एक तरफ कोरोना की दूसरी लहर इतनी प्रबल है और तीसरी लहर का डर बना हुआ है। माँ बाप परीक्षा केन्द्र तक बच्चे को छोड़ेंगे,मगर परीक्षा केन्द्र में क्या गारंटी है कि शेष सब लोग कोरोना निगेटिव होंगे,यदि उनमें से.
एक भी व्यक्ति पोजटिव होगा तो बच्चों की जिन्दगी खतरे में पड़ सकती है। मैं, माननीय केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री, डा रमेश पोखरियाल निशंक जी से आग्रह करूंगा कि वो परीक्षा करवाने की हठ छोड़ें।

कृपया इन्हें भी पड़ें  

गठिया,साइटिका,घरेलू उपचार

पियें एक गिलास गर्म पानी, दूर करे कई परेशानी

कपड़े से बना मास्क MASK कितना बेहतर

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

world oldest religious Temple 

उत्तराखण्ड के पहाड़ी गांव का रहन सहन

पहाड़ों का लाजवाब आटे वाला दूध का हलवा

चेहरे से मुंहासे हटाए

वीडियो देखें

culture documentary चक्रव्यूह Chakravyuh

Leave a Reply