22 जून तक बढ़ा उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू,15 जून से शुरु होगी स्थानीय लोगों के लिए चारधाम यात्रा आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी

उत्तराखंड में सरकार ने कोविड कर्फ्यू को 22 जून तक बढ़ा दिया है। इसके साथ ही सरकार ने कोविड कर्फ्यू के दौरान ढील भी दे दी है।

उत्तराखंड चार धाम यात्रा 15 जून से तीन जिलों के स्थानीय व्यक्तियों के लिए खोल दी गई है  तीन जिलों में रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, में आरटीपीसीआर की नेगिटिव रिपोर्ट के साथ ये चारधाम यात्रा दर्शन कर सकते हैं

https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/15-जून-शुरु-चारधाम-यात्रा/

सभी व्यक्तियों से अपील की है कि कोविड-19 को रोकने में शासन प्रशासन की मदद करें। पर्वतीय क्षेत्र में परिवहन व्यवस्था को भी खोल दिया गया है

वही हफ्ते में तीन दिन बाजार खुलेंगे। मिठाई की दुकानें पांच दिन खुलेंगी। शहरों में विक्रम, ऑटो के संचालन की अनुमति दी गई। साथ ही राजस्व न्यायालय खोलने का भी निर्णय लिया गया है।

इन्हें भी पढ़ सकते हैं–उत्तराखंड से लैंटेना/कुरी घास हटेगी मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने वन विभाग को दिए निर्देश

सिनेमा हॉल, बार स्विमिंग पूल, जिम, शैक्षिक संस्थान, ब्यूटी पार्लर सलून इत्यादि को अभी खोलने की अनुमति नहीं मिली है।

शादी विवाह और अंतिम संस्कार में 20 से बढ़ाकर 50 लोगों को आने की अनुमति है।शादी के आयोजन में नेगेटिव आर टी पीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट आवश्ययक है

साथ ही अन्य राज्यों से उत्‍तराखंड आने वालों के लिए आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट अभी भी अनिवार्य है। वही हफ्ते में तीन दिन बाजार खुलेंगे।
मिठाई की दुकानें पांच दिन खुलेंगी। शहरों में विक्रम, ऑटो के संचालन की अनुमति दी गई। साथ ही राजस्व न्यायालय खोलने का भी निर्णय लिया गया है।

 

इन्हें भी पड़ेंकैबिनेट की मंजूरी, किरायेदार-मकान मालिक को मिलेंगे कई अधिकार,Model Tenancy Act

साथ ही अन्य राज्यों से उत्‍तराखंड आने वालों के लिए आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट अभी भी अनिवार्य है।

 https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/15-जून-शुरु-चारधाम-यात्रा/

बाहरी राज्यों से उत्तराखंड में अपने पैतृक गांव वापस आ रहे लोगों को 7 दिन गांव में ग्राम प्रधान की निगरानी में आइसोलेशन में रहना होगा

वही हफ्ते में तीन दिन बाजार खुलेंगे। मिठाई की दुकानें पांच दिन खुलेंगी।

शहरों में विक्रम, ऑटो के संचालन की अनुमति दी गई। साथ ही राजस्व न्यायालय खोलने का भी निर्णय लिया गया है।

ग्रामीण क्षेत्र में डीएम को बाजार खोलने के सम्बंध में अधिकार दिया गया।

उतराखंड में करोना गाइडलाइंस का पालन नहीं करने वालों के साथ सख्ती से कार्रवाई की जाए एवं मास्क व सामुदायिक दूरी के नियम को लागू कराने में कोई कोर कसर बाकी ना छोड़ी जाए।

इन्हें भी पढ़ सकते हैं

त्रिजुगी नारायण मंदिर | world oldest religious Temple

dal dhokli recipe | दाल ढोकली रेसिपी

 

वीडियो भी देखें 

उत्तराखंड पहाड़ों में कैसे रहते हैं Documentary film PART-4