DRDO ने किया नई पीढ़ी की (Agni-P Missile) अग्नि पी बैलिस्टिक मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण।

DRDO ने  नई पीढ़ी की अग्नि पी बैलिस्टिक मिसाइल (Agni-P Missile) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।अग्नि पी अग्नि श्रेणी की मिसाइलों का एक नई पीढ़ी का उन्नत संस्करण है। 2 स्टेज और सॉलि़ड फ्यूल पर आधारित अग्नि प्राइम मिसाइल को एडवांस रिंग लेजर गैरोंस्कोप पर आधारित नेविगेशन सिस्टम द्वारा निर्देशित किया जाता है। जिसकी मारक क्षमता 1,000 से 2,000 किलोमीटर के बीच है।

मिसाइल तकनीक में भारत आज एक और छलांग नई छलांग लगा दी विश्व के मानचित्र में मिसाइल के क्षेत्र में विदेशी देशों पर टेक्नोलॉजी पर भारत अब निर्भर नहीं करेगा,

https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/agni-p-missile-test-drdo/

अब तक भारत अग्नि सीरीज की 5 मिसाइलों का सफलतापूर्वक विकास और परीक्षण किया जा चुका है.इस से पहले शुक्रवार को भारत ने स्वदेशी पिनाक रॉकेट का सफल परीक्षण किया था

अग्नि-पी मिसाइल (Agni-P Missile) एक बैलिस्टिक मिसाइल है, जिसकी मारक क्षमता 1000 किमी से 2000 किलोमीटर है. यह सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है, जो लगभग 1000 किलोग्राम का पेलोड या परमाणु शस्त्र ले जा सकती है. डबल स्टेड वाली मिसाइल ‘अग्नि-1’ की तुलना में हल्की और अधिक पतली होगी

 

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने 28 जून, 2021 को 1055 बजे ओडिशा, बालासोर के तट पर डॉ एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से नई पीढ़ी की परमाणु सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि पी (Agni-P Missile)का सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण किया। विभिन्न टेलीमेट्री और रडार स्टेशनों के साथ तैनात पूर्वी तट ने मिसाइल पर नज़र रखी और उसकी निगरानी की। मिसाइल ने उच्च स्तर की सटीकता के साथ सभी मिशनों  को पूरा पूरा किया ,

पढ़ें-

रात में भिगोकर खाएं इन 7 चीजों को आप अचंभित रह जाएंगे

लौंग के फायदे in Hindi | 14 Benefits Of Cloves

नारियल की पूजा क्यों की जाती

चेहरे से मुंहासे हटाए

Leave a Reply