उत्तराखंड के मनीष कसनियाल ने एवरेस्ट पर फहराया तिरंगा,Indian hoists the tricolor on Mount Everest

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के कासनी गांव रहने वाले मनीष कसनियाल ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी समुद्र तल से 8,848 मीटर की ऊंचाई पर स्थित 1 जून को सुबह 5 बजे (Mount Everest) एवरेस्ट पर तिरंगा फहराकर इतिहास के स्वर्णिम अक्षरों में अपना नाम लिख दिया।

मनीष ने अपनी महिला साथी सिक्किम की मनीता प्रधान के साथ विषम परिस्थिति में यह उपलब्धि हासिल की है।उनके एवरेस्ट फतह करने की सूचना के बाद उनके गांव में खुशी की लहर है।

 https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/indian-hoists-the-tricolor-on-mount-everest/
मनीष ने अपनी उपलब्धियों के बारे बताया कि मैं एक बहुत ही साधारण परिवार से हूं। कई संघर्षों के बाद यहां तक पहुंचा हूं,और मेरे इन संघर्षों में मुझे जब हंस फाउंडेशन के संस्थापक माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आशीष मिला तो मैं इस मुकाम को छूने का हौसला जुटा पाया।
जिनके सहयोग से मैं विश्व की सबसे ऊंची चोटी (Mount Everest) एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा पाया। इसके लिए मैं हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त करता हूं।

कृपया इन्हें भी पड़ेंहंस फाउंडेशन करोना काल में भी जीवन रक्षक उपकरण उत्तराखंड के गांवों में पहुंचा 

विश्व की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पर तिरंगा फहराने के बाद लौटे मनीष कसनियाल ने कहा कि इस बार वहां पर मौसम बहुत खराब था। जिस वजह से हमें काफी दिक्कतों का सामना करना पढ़ा रिस्क भी काफी ज्यादा रहा। इस बार 48 टीम एवरेस्ट एक्सपीडिशन में थी जिसमें से लगभग 32 से ज्यादा टीमों ने अपना एक्सपीडिशन कैंसल कर दिया।

पिथौरागढ़ महाविद्यालय में एमए के छात्र मनीष ने पर्वतारोहण में बेसिक, एडवांस, सर्च व रेस्क्यू, मैथड ऑफ इंस्ट्रक्शन कोर्स किया है। उनके नाम पर्वतारोहण में कई रिकॉर्ड दर्ज हैं।

कृपया इन्हें भी पड़ें  उत्तर प्रदेश बना 05 करोड़ से अधिक टेस्ट करने वाला पहला राज्य

इस संस्था से पर्वतारोहण की बारीकियां सीखने के बाद मनीष ने वर्ष 2018 में 5782 मीटर ऊंची नंदा लपाक चोटी को फतह किया था। 6 दिसंबर 2020 में 148 मीटर ऊंचे बिर्थी फॉल में रैपलिंग करने वाले टीम में मनीष भी शामिल रहे। टीम की यह उपलब्धि एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है।

इस अभियान में देश के 12 पर्वतारोही 8848 मीटर ऊंची एवरेस्ट, 8516 मीटर ल्होत्से, 7864 मीटर नूपसे, 7116 मीटर ऊंची पुमोरी चोटियों को फतह करने निकले थे। इन चोटियों में पर्वतारोहण के लिए बनी चार टीमों में मनीष व सिक्किम की मनीता प्रधान की टीम को एवरेस्ट फतह के लिए चुना गया। मनीष ने अपनी टीम के साथ 1 जून को सुबह 5 बजे एवरेस्ट पर तिरंगा लहराकर क्षेत्र का गौरव बढ़ाया है।

कृपया इन्हें भी पड़ें

Natural Protein Facial Peck for Dry Skin | नेचुरल फेस पेक

gaay ka ghee ke fayde | Amazing Ayurvedic benefits of cow ghee

झटपट 5 मिनट में दही चटनी रेसिपी | tasty curd chutney recipe

दीपावली पूजन में 10 बातों का रखें ध्यान घर में होगी महालक्ष्मी की कृपा

वीडियो देखें 

Documentary Himalayan women lifestyle

Leave a Reply