RSS प्रमुख मोहन भागवत-कोरोना काल में जो विवाह हुए. वे कम खर्चे में हुए हैं हमको अपनी आदतें नहीं बदलनी चाहिए

विजयदशमी के अवसर पर RSS ने महाराष्ट्र नागपुर में अपने मुख्यालय में परेड की। इस दौरान मंच पर RSS प्रमुख मोहन भागवत भी मौज़ूद रहें।इस अवसर पर नागपुर में RSS मुख्यालय में RSS प्रमुख मोहन भागवत ने “शस्त्र पूजन” किया और संघ के संस्थापक केबी हेडगेवार और एमएस गोलवलकर को श्रद्धांजलि भी अर्पित की और फिर स्वयंसेवकों को संबोधित किया

अपने संबोधन में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कोरोना जा रहा है, चला जाएगा। अपनी सुधरी हुई आदतों को फिर से नहीं बिगाड़ना इसका हमें ध्यान रखना पड़ेगा। हमको अपनी आदतें नहीं बदलनी चाहिए। कोरोना काल में जो विवाह हुए हैं, वे कम खर्चे में हुए हैं हम सब विविधताओं को स्वीकार करते हैं।

इन्हें भी पढ़ें-

छठ पूजा में किन की पूजा होती और कैसे मनाते हैं

Deepawali 2021 | दिवाली में लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त

चम्बा उत्तराखंड का खुबसूरत पर्यटक स्थल में से एक है

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

अपने समान पूर्वजों में हमारे सबके आदर्श हैं। इस बात की समझ रखने के कारण ही इस देश ने कभी हसनखाँ मेवाती, हाकिमखान सूरी, खुदाबख्श तथा गौसखाँ जैसे वीर, अशफाक उल्ला खान जैसे क्रांतिकारी देखे। वे सभी के लिए अनुकरणीय हैं।बलशीलसंपन्न तथा निर्भय बनाकर, ना भय देत काहू को, ना भय जानत आप ऐसे हिन्दू समाज को खड़ा करना पड़ेगा। जागरुक, संगठित, बलसंपन्न व सक्रिय समाज ही सब समस्याओं का समाधान है।

इन्हें भी पढ़ें-

शिवलिंग की महत्ता उनकी रचना और रूपों का निर्माण

Natural Protein Facial Peck for Dry Skin | नेचुरल फेस पेक

दिल को रखें फिट रखने के लिए अपने खाने की डाइट में इन्हें शामिल करें

अपने मत, पंथ, जाति, भाषा, प्रान्त आदि छोटी पहचानों के संकुचित अहंकार को हमें भूलना होगा। हिन्दू मन्दिरों का संचालन हिन्दू भक्तों के ही हाथों में रहे तथा हिन्दू मन्दिरों की सम्पत्ति का विनियोग भगवान की पूजा तथा हिन्दू समाज की सेवा तथा कल्याण के लिए ही हो, यह भी उचित व आवश्यक है।
जिस दिन हम स्वतंत्र हुए उस दिन स्वतंत्रता के आनंद के साथ हमने एक अत्यंत दुर्धर वेदना भी अपने मन में अनुभव की वो दर्द अभी तक गया नहीं है। अपने देश का विभाजन हुआ, अत्यंत दुखद इतिहास है वो, परन्तु उस इतिहास के सत्य का सामना करना चाहिए, उसे जानना चाहिए

Documentary film 

Documentary on how people of Uttarakhand live in village

 

Leave a Reply