Uttarakhand केदारनाथ धाम में भी मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

जहाँ दुनियाभर में कोरोना वायरस (COVID-19) संकट के बीच आज आंतरारष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।

इस दौरान उत्तराखंड के केदारनाथ धाम में 11हजार 700 फीट की ऊंचाई पर  केदारनाथ मंदिर के पुजारी बागेश्वर लिंग,  बेदपाठी हेमंत कुर्मानचली,कर्मचारी,अरविंद जमलोकी,तीर्थ पुरोहित समाज, पुलिस प्रशासन, संजय तिवारी, राजकुमार तिवारी, तेज प्रकाश त्रिवेदी, रोशन त्रिवेदी, आदि लोगों ने भी (International Yoga Day 2021) योगा दिवस को मनाया,

 https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/अंतर्राष्ट्रीय-योग-दिवस/

आज उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आंतरारष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day 2021) के अवसर पर उत्तराखण्ड आयुर्वेद वि.वि. परिसर, हर्रावाला में आयोजित योगाभ्यास कार्यक्रम में भाग लिया।

 https://livecultureofindia.com/national-राष्ट्रीय-news/अंतर्राष्ट्रीय-योग-दिवस/

तीरथ सिंह रावत ने बताया योग साधना से व्यक्ति न केवल मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ रहता है बल्कि कई बीमारियां भी उससे दूर रहती हैं। प्रधानमंत्री जी के सफल प्रयासों से आज योग पूरी दुनिया में उभरकर सामने आया है।

चार धाम यात्रा वर्तमान समय में करोना महामारी के चलते बंद पड़ी है| मंदिरों के कपाट खुल हुए है, इस बार कोरोना संक्रमण के चलते चार धाम यात्रा को फिलहाल श्रद्धालु के लिए स्थगित किया गया है।

मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए केवल रावल, पुजारीगण और मंदिरों से जुड़े स्थानीय हक हकूक धारी,तीर्थ पुरोहित, पुरोहित, कर्मचारी व अधिकारी ही जा सकते हैं,लेकिन वो भी तभी जा सकते हैं इन सब की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव होना जरूरी है।

पड़ें- उत्तराखंड की बेटी स्नेह राणा ENGW vs INDW बनी भारतीय की पहली और दुनिया की चौथी महिला

वर्तमान समय में करोना महामारी में यूं तो हर किसी की जिंदगी आपाधापी और घर के अंदर में बीत रही है इस स्थिती में कहीं ना कहीं हमारे शरीर और साथ ही मन की भी उपेक्षा होती है, जब शरीर स्वस्थ है तो ही स्वस्थ मन का वास होता है,

योग अपने मन को और शरीर को तंदरुस्त बनाने के लिए एक आसान उपाय हैं हम योग रोज कर के अपने तन मन को स्वस्थ बनाये रख सकते हैं है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस योगा सभी के लिए शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। योग के महत्व को समझते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में इस दिन को सेलिब्रेट करने की पहल की थी, 21 जून को संयुक्त राष्ट्र में 177 सदस्यों द्वारा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने का प्रस्ताव रखा गया था,उसके बाद 21 जून को ”अंतरराष्ट्रीय योग दिवस” (International Yoga Day 2021) घोषित किया गया

पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया उसके बाद से हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस” (International Yoga Day)मनाया जाता है हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम अलग-अलग होती है।

पड़ें – जम्मू-कश्मीर के नये पंचायत सदस्यों को ट्रेनिंग के लिए देश भर की विकसित पंचायतों में भ्रमण करवाया जाएगा,

कोरोना के कारण पिछले साल 2020 में लोगों को घर में रहने की हिदायत दी गई थी इसलिए योग दिवस की थीम थी ‘घर में रहकर योग करें’।
इस साल “योग फॉर वेलनेस”है अर्थात ‘स्वास्थ्य के लिए योग’

कोविड महामारी के इस दौर में योग का महत्व सकारात्मक ऊर्जा और बेहतर प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए योग का महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है।

Documentary film

Himalayan women lifestyle Uttarakhand India | पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती

कृपया इन्हें भी पड़ें

तांबे के बर्तन का पानी पीने के 7 फायदे | Benefits of drinking copper pot water

उखीमठ ओमकारेश्वर मंदिर रुद्रप्रयाग | Ukhimath Omkareshwar Temple

अपने घर के मंदिर में पूजा और ध्यान रखने वाली जरूरी बातें

पहाड़ों की खुबसूरत इगास बग्वाल ( दिवाली )

Homemade facials | घर पर तैयार करें फेशियल

Leave a Reply