दुनिया के सात अजूबे | Waste To Wonder Park In Delhi

 Waste To Wonder Park-सात अजूबे 
दुनिया के सात अजूबों Waste To Wonder Park को नजदीकी से देखना कौन नहीं चाहता है|यदि आपको दुनिया के सात अजूबे एक ही जगह पर देखने को मिल जाए वो भी बिना पासपोर्ट के तो कैसा लगेगा. जी हां हम बात कर रहे हैं

नई दिल्ली के दक्षिणी दिल्ली नगर निगम का वेस्ट टू वंडर पार्क की जहां ये सब कुछ संभव है| ये पार्क जितना खूबसूरत दिन में दिखता है| उस से कई ज़्यादा रात में लाइट का इस्तेमाल करके  इनकी खूबसूरती और भी बड जाती है।

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/

इस  का  निर्माण औद्योगिक एवं अन्य तरह के 150 टन कचरों का इस्तेमाल करके बनाया  गया है। इस पार्क में टहलना दुनिया की सैर की तरह ही है|

इस पार्क में पूरी बिजली सोलर पावर से यहीं तैयार की जाती है| इस पार्क में बिजली की आपूर्ति के लिए 5 किलोवाट के 3 सोलर ट्री और 10 किलोवाट का सोलररूफ बनाया गया है।

गीज़ा का पिरामिड  Replica of Egypt’s Pyramid of Giza

मिस्त्र में गीजा के सबसे पुराने और बड़े पिरामिड को बनाने में 20 साल का समय लगा था जबकि पाइप्स, एंगल्स और ट्रक के मेटल शीट्स से बना यह पिरामिड 80 दिन में बनकर तैयार हुआ।

पीसा की मीनार 

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/
 Replica of Leaning Tower of Pis

पीसा की मीनार यूरोप  की अद्भुत कला का नमूना है जो थोड़ी झुकी हुई है। इस मीनार की ऊंचाई 39 फीट है इस में वेस्ट केबल वायर, व्हील्स, ट्रक मेटल शीट्स, चैनल्स, एंगल्स और क्लच प्लेट्स का इस्तेमाल किया गया है।
एफिल टावर-

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/
 Replica of Paris Eiffel Tower

वेसे तो एफिल टॉवर पेरिस में है  हम पेरिस नहीं जा सकते तो क्या हुआ, इस 70 फीट की मीनार को देख लें।जो बिलकुल वेसेही है  इसको बनाने में वेस्ट  ट्रक, पेट्रोल टैंक्स, एंगल्स आदि का इस्तेमाल किया गया है।

कोलोजियम 

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/
Amphitheatre Colosseum from Rome

उभरे हुए आकार मैं बने रोम के एंपीथिएटर को यहां पर बनाया गया है। इसमें वेस्ट कार व्हील्स, , गियर, एंगल्स, मेटल पाइप्स, ऑटोमोबाइल पार्ट्स और इलेक्ट्रिक पोल्स आदि का इस्तेमाल किया गया है।

ताजमहल-

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/
 Taj Mahal

इसकी ऊंचाई   37 फीट है। इसे बनाने में वेस्ट नट्स-बोल्ट, साइकिल रिंग्स, ओल्ड यूटेंसिल्स, इलेक्ट्रिक पाइप्स और पुरानी जालियों का इस्तेमाल किया गया है।

कृपया इन्हें भी पढ़ें और वीडियो भी देखें

world oldest religious Temple | Kedarnath Yatra

उत्तराखंड पहाड़ों में कैसे रहते हैं

रॉक गार्डन चंडीगड़ आखिर है क्या है

रीडीमर-

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/
Brazil’s Christ the Redeemer

रीडीमर ब्राजील की ऐतिहासिक राष्ट्रीय धरोहर है।
इस 25 फीट ऊंचे स्टेच्यू को बनाने में वेस्ट बाइक की चेन्स, इलेक्ट्रिक पाइप्स,  का इस्तेमाल किया गया है।

स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी-

 https://livecultureofindia.com/waste-to-wonder-park-delhi/
Replica of USA’s Statue of Liberty

अमेरिका और फ़्रांस के बिच्ज  एक सहमति हुई थी  जिसमें इस बात की सहमति बनी थी कि मूर्ति का निर्माण फ़्रांस द्वारा और चबूतरे का निर्माण की जिम्मेदारी संयुक्त राज्य अमेरिका की थी, अमेरिकन  क्रांति के दौरान फ्रांस और अमेरिका की दोस्ती के प्रतीक के तौर पर फ्रांस ने अमेरिका को उपहार  पर दिया
यहाँ पर स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी-32 फीट ऊंची इस स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी में वस्त पाइप्स, रिक्शा के एंगल्स, इलेक्ट्रिक वायर्स, साइकिल चेन, टॉर्च और मेटल शीट्स का इस्तेमाल किया गया है।

यहां पर भीड कफी होती है लोग दूर-दूर से इसे देखने आते हैं| यहां पर आकर हर एक इंसान बिना फोटो खींचे रुक नहीं सकता,  आप यहाँ इन्हें छू नहीं सकते हैं इन्हें छूने पर ₹1000 का जुर्माने का प्रावधान है चलते चलते थक जाएँ तो रास्ते में बीच में बैठने की भी सुविधाएं हैं रास्ते के दोनों साइड लाइट लगा रखे हैं जिससे रात में चलने में किसी को परेशानी न हो,

Waste To Wonder Park Delhi, टिकट और टाइमिंग

 वेस्ट टू वंडर पार्क डेल्ही के सराय काले खां बसअड्डे व  निजामुद्दीन मेट्रो स्टेशन के पास लग भग सात एकड़ में बना हुआ है।पार्क में जाने के लिए टिकट लेनी पड़ती है|  टिकट और टाइमिंग की अभी  बात करें 3 साल से कम उम्र के बच्चे, वरिष्ट नागरुक के साथ-साथ नगर निगम के स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को निशुक्ल एंट्री है। वहीं 3-12 साल के बच्चे की टिकट 25 रुपए है और बाकी लोगों की टिकट 50 रुपए है।
 पार्क मंगलवार से रविवार को सुबह 11 बजे से रात 11 बजे तक ये खुला रहता है और सोमवार के दिन यह पार्क बंद रहता है।

सात अजूबे Waste To Wonder Park से संबंधित हमारी डॉक्यूमेंट्री फिल्म जरूर देखें | Please see our documentary film related to this.

 

Leave a Reply