village Uttarakhand | नाग गांव उत्तराखंड रुद्रप्रयाग

नाग गांव-village Uttarakhand

नाग village Uttarakhand के रुद्रप्रयाग जिले से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है माना जाता है नाग गांव का नाम नाग देवता के नाम से पड़ा है इस गांव में करीब 40 परिवार रहते हैं इस रोड से आप नई टिहरी से होते हुए गंगोत्री यमुनोत्री और गुप्तकाशी  केदारनाथ जा सकते है

 https://livecultureofindia.com/village-uttarakhand/
Nag village

ये  गांव दूर से बहुत सुंदर दिख रहा था हम घूमते हुए इस गांव में पहुंच गए रोड के नजदीक होने के कारण हमारा मन भी किया गांव में घूम लिया जाए जैसे ही हम गांव में पहुंचे वहां के नजारे देखकर हमारा दिल और हाथ मजबूर होगया कैमरा निकालने के लिए तो फिर क्या था  मैंने भी सोचा एक छोटी सी डॉक्यूमेंट्री यहां की बनाई जाए आप लोग उसे जरूर देखें

फिर  यहां की रिकॉर्डिंग करता रहा, यहां पर नाग देवता का एक पुराना मंदिर भी है आज हमारे पास समय कम था तो हम पूरी रिकॉर्डिंग यहां की नहीं कर पाए इस मंदिर की क्या-क्या मान्यताएं हैं यह हम आपको आगे जरूर बताएंगे  इस समय करीब दोपहर के 3:00 बज रहे होंगे गांव में अधिकतर लोग  दिन का खाना खाकर खेतों में चले गए ज्यादातर मकाने बंद थे

 https://livecultureofindia.com/village-uttarakhand/

कृपया इन्हें भी पढ़ें और वीडियो भी देखें

चम्बा उत्तराखंड का खुबसूरत पर्यटक स्थल में से एक है

शरद पूर्णिमा मां लक्ष्मी किन घरों में आती और खीर का महत्व

गुरुद्वारा दुःखनिवारण साहिब जी पटियाला | Shri Dukh Niwaran Sahib Ji Patiala

पहाड़ों की महिलाएं कैसे काम करती-himalayan women lifestyle

Natural Protein Facial Peck for Dry Skin | नेचुरल फेस पेक

gaay ka ghee ke fayde | Amazing Ayurvedic benefits of cow ghee

झटपट 5 मिनट में दही चटनी रेसिपी | tasty curd chutney recipe

बाबा तुंगनाथ यात्रा विडियो देखें

 बच्चे और बूढ़े घर पर थे बच्चे अपने खेलों में मस्त है वहां पर हमें  एक माताजी मिली जो लगभग 80 से 85 साल की होंगी उनसे हमारी मुलाकात हुई उन्होंने अपने पूरे बलबूते पर खेती-बाड़ी संभाल रखी है

आप सोच सकते हैं पहाड़ों में खेती करना कितना कठिन है लेकिन इन माता जी का हौसला देख कर हम भी दंग रह गए फिर माताजी ने हमारे लिए चाय बनाई हमने चाय पी हमने माताजी से पूछा माता जी आप क्या शहर में रहे हैं माताजी ने ….हां कहां मैं अपने बेटे बहूऔर नाती के साथ  शहर में रही हूं लेकिन जो उन्होंने शहर के बारे में बताया  उनका कहना था उस शहर से अच्छा मुझको अपना गांव लगता है

जहां सब लोग एक साथ एक दूसरे के सुख दुख में काम आते हैं उठते बैठते हैं लेकिन वहां शहरमें कोई किसी से बात करने वाला नहीं शहर अच्छा तो लगा पर बहुत कम फिर माताजी ने हमें अपने पेड़ दिखाएं खेत दिखाएं कहां उस शहर से अच्छा मेरा अपना घर है गांव है

अपना खाओ ना किसी का डर ना किसी का भय खुशी  जिंदगी जियो वहां शहर का खाना भी मुझे अच्छा नहीं लगा जैसे जैसे शाम हो रही थी लोग खेतों गौशालाओं से होते हुए घर की ओर आ रहे थे फिर क्या था हर एक अपने घर पर बुलाकर चाय पिलाने के लिए कहने लगे ऐसा लग रहा था जैसे यह लोग हमें बहुत पहले से जानते हैं यहां ऐसा लग रहा था सब अपने परिवार के हैं लेकिन हमें आगे जाना था फिर हम आगे जाने के लिए निकले सब लोग हमें छोड़ने के लिए ऊपर सड़क तक आ गये

नाग गांव की वीडियो देखें

One thought on “village Uttarakhand | नाग गांव उत्तराखंड रुद्रप्रयाग

  • July 23, 2020 at 11:58 am
    Permalink

    Ilov uttarakhand Beautiful village 🌹

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: