नेपाल में बाढ़ भारी बारिश के बाद आई बाढ़ से अबतक सात की मौत, 50 लोग लापता

नेपाल में मूसलाधार बारिश के बाद आई नेपाल में बाढ़ से जलप्रलय मचाया हुआ है। से पूरा मध्य नेपाल के सिंधुपालचोक में मेलम्ची नदी में बाढ़ आ गई।जिससे पूरा मध्य नेपाल बाढ़ से सबसे बुरी तरह प्रभावितहो गया है,

खबर है कि नेपाल में आई बाढ़ ने मेलमची पेयजल परियोजना, टिम्बू बाजार, चनौत बाजार, तलमारंग बाजार और मेलमची बाजार में बांधों को भी नुकसान पहुंचाया है।

बताया जा रहा है कि नेपाल में अभी तक 7 लोगों की मोत हुई है मंगलवार रात मृतकों के शव बरामद किए गए। करीब 50 से ज्यादा लोग अब भी लापता हैं, जिनमें से ज्यादातर मेलम्ची पेयजल परियोजना में काम करने वाले श्रमिक हैं।

नेपाल में बाढ़ के कारण शहर के 200 से अधिक घर क्षतिग्रस्त हुए हैं. सड़कों पर कीचड़ भरा पड़ा हुआ है,

भारी बारिश से सिंधुपालचोक में दो कंक्रीट पुल और पांच से छह सस्पेंशन पुल गिर कर बह गए हैं। कृषि भूमि और मत्स्य पालन स्थल डूब गए हैं। वहीं हेलाम्बु क़स्बे में पुलिस चौकी (सशस्त्र पुलिस बल शिविर) और मेलम्ची में पेयजल परियोजना स्थल बाढ़ जैसी स्थिति के कारण पहुँच से बाहर हैं।

नेपाल बाढ़ ने अकेले हेलम्बु में तीन पुलों और मेलमची में एक पुल को बहा दिया, जबकि जिले को अन्य क्षेत्रों से जोड़ने वाली कई सड़कें ध्वस्त हो गईं। जिले में हेलीकॉप्टर भेजे गए हैं बचाव कार्य में सुरक्षाकर्मियों को लगाया गया है।

भारी बारिश के बाद नेपाल ने बड़ी मात्रा में पानी छोड़े जाने से यूपी-बिहार के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कई जिलों में प्रशासन ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है।

नेपाल में आयी बाढ़ की वजह से बिहार में पूर्वी और पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सारण, वैशाली, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मधुबनी, बेगूसराय और खगड़िया जिला में लोग प्रभावित हुए

कृपया इन्हें भी पड़ें

तांबे के बर्तन का पानी पीने के 7 फायदे | Benefits of drinking copper pot water

उखीमठ ओमकारेश्वर मंदिर रुद्रप्रयाग | Ukhimath Omkareshwa